अपने ही कथित दुकान में आबकारी विभाग का छापा !

0
244
प्रतीकात्मक

राजनांदगाव्/छत्तीसगढ़(राज्य ब्यूरो)- आबकारी विभाग ने रिद्दी सिद्दी कालोनी के व्यवसायिक काम्पलेक्स में सजीत सिग बग्गा की जिस दुकान से 56 पेटी शराब जप्त की है| उस दुकान का किराया नामा सहायक जिला आबकारी अधिकारी के नाम से सजीत सिग बग्गा के द्वारा कराया गया है। अवैध शराब का यह पूरा मामला सदिग्ध नजर आ रहा है। आबकारी विभाग के नाम से उक्त दुकान को पांच हजार रुपये मासिक किराये में दिया गया है। अब रिद्दी सिद्दी कालोनी के उसी दुकान से अवैध शराब का मिलना पूरे मामले में आबकारी विभाग के किसी अधिकारी की सलिप्तता जाहिर करता है । इस मामले में आबकारी विभाग के द्वारा लिपा पौती करने की तैयारी कर ली गई है ?

छापे मारी करने पहुची आबकारी विभाग की सहायक उपनिरीक्षक उक्त दस्तावेज को फर्जी बता रही है।
बताया जाता है कि उक्त दुकान में काफी मात्रा में शराब डम्प थी जिसे धीरे धीरे कर निकाला जा रहा था । कल आबकारी विभाग एवं पुलिस ने सयुक्त कार्यवाही करते हुये रात भर पहरेदारी की और मामले की तहकीत करने लगे।
सूत्रों से पता चला है कि ये मामला आबकारी विभाग के किसी अधिकारी का विगत दो वर्षो से वर्चस्व कायम हो गया था और बडे अधिकारी भी उस की बातो पर विश्वास करते थे लेकिन नीचे तपके के अधिकारी कई मामले में वचित हो रहे थे। इससे पूर्व भी बार वाले मामले में उस बडे अधिकारी की भुमिका संदिग्ध थी जिसका खुलासा भी नीचे तपके के अधिकारी के द्वारा ही किया गया था जिसपर कार्यवाही भी हुई । इस मामले में भी बताया जा रहा है कि उक्त दुकान भी उसी बडे अधिकारी के मार्फत ली गई थी। यह जांच का विषय जरुर है लेकिन जो जानकारी मिली है उसके अनुसार नीचले तपके के अधिकारी उस बडे अधिकारी के मामले उजागर करने लगे है । जिसका उदाहरण आज भी देखने मिला है।

पुलिस अब इसकी जांच कर रही है दस्तावेज फर्जी है तो फर्जी दस्तावेज बनवाने वाले के खिलाफ पुलिस कडी कार्यवाही करेगी और अगर दस्तावेज सही है तो उक्त दुकान को किराये से लेकर अवैध शराब रखने वाले विभागीय अधिकारी के खिलाफ भी कडी कार्यवाही होनी चाहिये।

रिपोर्ट- हरदीप छाबरा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here