संचालित परियोजनाओं का कार्यदायी संस्थायें सेफ्टी आडिट कराकर सुरक्षा का करें पुख्ता इन्तेंजाम: कमिश्नर

0
24

वाराणसी (व्यूरो) – कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने समस्त कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया है कि ऐसी परियोजनायें जहॉ निर्माण कार्य के दौरान दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है, ऐसे उन सभी परियोजनाओं को तत्काल् चिन्हिंत कर उनका सेफ्टी आडिट स्वयं विभाग भी करे एवं किसी थर्ड पार्टी से भी उन परियोजनाओं का सेफ्टी आडिट करा लिया जाय कि कोई अप्रिय घटना घटित न होने पाये। उन्होने कार्य की गुणवत्ता पर विशेष जोर देते हुए परियोजना में प्रयुक्त होने वाले सरिया, कांक्रीट आदि की जॉच किसी प्रतिष्ठित वाहय एजेंसी यथा-आईटीआई बी0एच0यू0 अथवा कानपुर से करा लिया जाय।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने गत् दिवस चौकाघाट-लहरतारा निर्माणाधीन फ्लाई ओवर की बीम गिरने की दुखद घटना के दृष्टिगत् इसकी किसी भी दशा में पुनरावृत्ति न होने देने पर जोर देते हुए मंडल के जनपदो के जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी सहित समस्त कार्यदायी संस्थाओं को पत्र लिख कर मंडल के जनपदों में संचालित समस्त परियोजनाओं का सेफ्टी आडिट कराये जाने का कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिया है। उन्होने कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया है कि संचालित ऐसी परियोजनाएं जहॉ जनसामान्य का आवागमन बना रहता है, वहॉ संबंधित कार्यदायी एजेंसी अपने स्तर से प्रशिक्षित सुरक्षा कर्मी व स्टाफ मय युनिफार्म अवश्य रखे। जो सामान्य जनमानस को उस स्थल से दूर रखने में सहयोग करे।

ऐसी परियोजना स्थल जहॉ पर ट्राफिक डायवर्जन कराना उचित हो, के लिये जिले के जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर समय से पूर्व रूट डाइवर्जन हेतु अनुमति अवश्य प्राप्त कर लिया जाय। जिस अवधि के दौरान और जिस खण्ड पर डायवर्जन लेना हो, उनका सम्पूर्ण विवरण उल्लिखित कर उसकी वैकल्पिक व्यवस्था का उल्लेख अवश्य किया जाय। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने आगामी बैठक में सभी कार्यदायी एजेसियों को ऐसी परियोजनाओं को चिन्हित कर किये गये सुरक्षात्मक उपायों के संबंध में अपना प्रस्तुतिकरण भी करेगें।

रिपोर्ट – गौरव अग्रहरि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here