पाकिस्तान को बेचे जाने वाले अमेरिकी ऍफ़-16 विमानों की डील मुश्किल में

0
484

वाशिंगटन – पाकिस्तान अमेरिका से जो 8 अत्याधुनिक ऍफ़-16 फाइटर जेट खरीदने की प्लानिंग कर रहा था अब वो डील खटाई में पड़ गयी है और इस डील के लिए जो भी वित्तीय सहायता अमेरिका से मिलने वाली थी उस पर अमेरिकी संसद ने रोक लगा दी है I अर्थात अब अगर पाकिस्तान को ऍफ़-16 फाइटर जेट लेने है तो उसके लिए उसे अपनी जेब से ही पूरा पैसा खर्च करना पड़ेगा I

किसी भी प्रकार की वित्तीय मदद नहीं दी जायेगी पाकिस्तान को –

अमेरिकी विदेश विभाग के एक उच्च अधिकारी ने बीबीसी से बातचीत में कहा है कि ओबामा प्रशासन अब भी पाकिस्तान को ऍफ़-16 लड़ाकू विमान बेचने के पक्ष में है लेकिन इस डील के लिए वो अब किसी भी प्रकार की वित्तीय मदद नहीं दे सकते है I बीबीसी के अनुसार ओबामा प्रसाशन को यह फैसला सीनेट के विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष सेनेटर बॉब कोर्कर के आदेश पर लेना पड़ा है I उन्होंने यह भी बताया है कि कांग्रेस के पास ये अधिकार होता है कि वो चाहे तो पैसे जारी करे और यदि न चाहे तो वो पैसे न जारी करें और इस बार बिलकूल ऐसा ही हुआ है I

भारत के खिलाफ कर सकता है विमानों का प्रयोग – अमेरिकी सीनेट
बता दें कि अमेरिका ने जब पाकिस्तान को ऍफ़-16 फाइटर जेट बेचने का निर्णय लिया था तो उसने तर्क देते हुए कहा था कि पाकिस्तान को ऍफ़-16 विमान आतंकवादी गतिविधियों पर रोक लगाने और आतंकवादियों को नष्ट करने के लिए दिए जा रहे है I लेकिन अमेरिकी सीनेट का मानना है कि पाकिस्तान को अमेरिकी मदद के साथ जो विमान दिए जा रहे है उसका प्रयोग पाकिस्तान आतंकवादियों के खिलाफ नहीं बल्कि भारत के खिलाफ युद्ध के लिए करेगा I पाकिस्तान के लिए ये फ़ैसला एक बड़ा झटका माना जा रहा है क्योंकि पिछले महीने जब सेनेट ने आठ एफ़-16 विमानों की बिक्री को मंज़ूरी दे दी थी तो लगा था कि सारी अड़चनें ख़त्म हो गई हैं I

नहीं खरीदेगा पाकिस्तान अब विमान –
अमेरिकी रक्षा विभाग के बयान को अगर आधार मानें तो पाकिस्तान को मिलने वाले 8 ऍफ़-16 विमानों और उनके साथ मिलने वाले उपकरणों की कुल कीमत तक़रीबन 70 करोंड डालर है I अब तक ये माना जा रहा था कि इस कुल 70 करोंड डालर में से तक़रीबन 43 करोंड डालर अमेरिकी मदद के तहत पाकिस्तान को मिलते जबकि पाकिस्तान खुद अपनी जेब से मात्र 27 करोंड डालर ही खर्च करने वाला था I लेकिन अब जब अमेरिकी सांसदों ने इस डील और अमेरिकी मदद पर रोक लगा दी है तो ऐसे में जानकारों का मानना है कि पाकिस्तान कभी भी अपनी जेब से ये पूरा पैसा खर्च करने की जहमत नहीं उठाएगा I

ऍफ़-16 डील के अलावा अन्य मदद पर भी लगा दी गयी रोक –
बता दें कि अमेरिकी संसद ने न केवल ऍफ़-16 डील पर ही रोक लगायी है इसके अलावा भी ओबामा प्रसाशन ने इस साल के लिए पाकिस्तान के लिए फॉरेन मिलिटरी फ़ाइनेंसिग यानी विदेशी फ़ौजी मदद कोष के तहत 74 करोड़ बीस लाख डॉलर का बजट कांग्रेस के सामने पेश किया था उस पर भी फ़िलहाल रोक लग गई है I विदेश विभाग के अधिकारी का कहना था कि ये पैसा पाकिस्तान को नहीं दिया जा सकता लेकिन अगर कांग्रेस अपना मन बदलती है तो इसे जारी किया जा सकता है I
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here