फरियादियों को अपनी समस्यओं के समाधान के लिये भटकना न पड़े: जिलाधिकारी

0
64

मैनपुरी(ब्यूरो)- प्रदेश सरकार जन शिकायतो के प्रति वेहद संवेदनशील है जनता को त्वरित न्याय मिले, फरियादियो को अपनी समस्यओं के समाधन के लिये भटकना न पड़े , इसीलिये नई सरकार के गठन के बाद प्रदेश के मुखिया ने अत्यन्त महत्वपूर्ण निर्णय लिया। कार्यालयों में जन सुनवाई का समय प्रातः 9 बजे से 11 बजे तक निर्धारित कर अधिकारियो को प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध गुणवत्ता पूर्ण निराकरण किये जाने के आदेश दिये। तहसील समाधान , थाना समाधान दिवस को प्रभावी बनाये जाने पर जोर दिया गया। इन दिवसों पर प्राप्त शिकायतों का समय निर्धारित किया गया, तहसील समाधान दिवस पर प्राप्त शिकायतों को 03 दिन में थाना दिवस पर प्राप्त शिकायतेां को उसी दिन निराकरण किये जाने के आदेश दिये। जिला स्तर पर प्रदेश सरकार के निर्देशों का अक्षरशः पालन किया जा रहा है| संबंधित अधिकारी प्रत्येक कार्य दिवस पर प्रातः 9 बज से जन शिकायतें सुन रहे है और उनका प्रभावी निराकरण किया जा रहा है।

जिलाधिकारी यशवन्त राव के कुशल नेतृत्व में प्रदेश सरकार के 100 दिन के कार्यकाल में प्राप्त शिकायतो के निराकरण में तेजी आई है। तहसील कुरावली, घिरोर में तहसील दिवस पर प्राप्त शिकायतों का शत-प्रतिशत निस्तारण किया जा चुका है। सरकार गठन के बाद आयोजित तहसील दिवसों में जनपद की समस्त तहसीलों मे कुल 4291 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए जिसमे से 4019 का निस्तारण किया जा चुका है। अभी 272 शिकायती प्रार्थना पत्र तहसील दिवस में लम्बित है जिसमें अधिकांश प्रार्थना पत्र इस माह के तृतीय मंगलवार को आयोजित तहसील दिवस के है। श्री राव ने बताया कि 100 दिन में मुख्यमंत्री , प्रधानमंत्री सन्दर्भ , जनता दर्शन, आनालाईन , तहसील दिवस में कुल 12817 शिकायते प्राप्त हुई जिसमे से 11548 का निर्धारित समय अवधि में निस्तारण किया जा चुका है। उन्होेने बताया कि 1166 मुख्यमंत्री सन्दर्भ प्राप्त हुए जिसमें से 997 का निस्तारण हो चुका है। जनता दर्शन के दौरान 100 दिन में 5008 शिकायती प्रार्थना पत्र निस्तारण हेतु प्रस्तुत किये गये जिसमे से 4592 शिकायतों का गुणवत्तापूर्वक निस्तारण किया जा चुका है। आनलाईन 1912 शिकायतें मिली है जिसमे से 1559 शिकायतें निस्तारित हो चुकी है। उन्होने बताया कि कि सभी अधिकारी प्रत्येक कार्य दिवस में निर्धारित समय कार्यालय मे बैठकर जन शिकायतेां को सुूनकर प्रभावी निस्तारण कर रहे है। जिन अधिकारियो के स्तर पर शिकायतों के निराकरण में विलम्ब/कोताही बरती जा रही है उनके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही अमल में लाई जा रही है । तहसील दिवस मे लम्बित प्रकरण पर लापरवाह अधिकारियों का वेतन रोककर स्पष्टीकरण मांगा गया है।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here