आवारा जानवरों के आतंक से बर्बाद हो रहे किसान

0
52

मियाँगंज (ब्यूरो) उन्नाव ।बिकास खण्ड मियाँगंज क्षेत्र के अन्तर्गत लगभग प्रत्येक गाँवों में अवारा गायों एवं साडो़ के भीषण आतंक से क्षेत्रीय किसान तबाह एवं बर्बाद हो कर रह गया है। एक तरफ जहाँ किसान कभी सूखे की मार से तो कभी ओलावृष्टि से तो कहीं कहीं नील गायों एवं जंगली सुअरों के आतंक से परेशान होता चला आ रहा था, तो वहीं दूसरी तरफ गांवों में घूम रहे अवारा गायों एवं साडो़ की धमा चौकड़ी से एक दम बर्बाद हो कर रह गया है। यह अवारा घूम रही गायें किसानों की मेहनत से तैयार की गई फसलों को मौका मिलते ही साफ तो कर ही रही है साथ ही इनके साथ घूम रहे अवारा साड़ फसलों को नुकसान तो पहुंचा ही रहे हैं। साथ ही अब तक कई लोगों की जान भी ले चुके हैं।

अपनी फसलों की सुरक्षा के लिए कुछ किसानों ने ब्लेड वाला तार लगा रखा है। उससे तमाम गायें एवं साड़ घायल हो जाते हैं। यहां तक तमाम गायों एवं साडो़ की भी मौतें हो जाती है। शासन-प्रशासन है कि इस ओर कोई भी ध्यान नही दे रहा है। गौरक्षक दल के लोग भी किसानों की समस्या पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। इन अवारा घूम रही गायों एवं साडो़ के लिए गौशाला की व्यवस्था शासन स्तर से की जानी चाहिए और इनको पकड़वाकर उसी में बन्द करवाना चाहिए साथ ही इनको अवारा छोड़ने वाले लोगों पर कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए, ताकि किसानों की फसलों को चरने से बचाया जा सके साथ ही इन अवारा घूम रहे सांडों से लोगों की जान की सुरक्षा हो सके। क्षेत्रीय लोगों का कहना है। कि ऐसा होना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

रिपोर्ट – सोने सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY