सर्वर न आने से खतौनी लेने वाले किसानों को हो रही दिक्कत, 40 से 50 किलोमीटर दूरी से आने के बाद खतौनी न मिलने से मायूस होकर लौट रहे है किसान

0
161


उन्नाव ब्यूरो : जनपद की सबसे बड़ी तहसील जिसमे 514 राजस्व गांव हैं, हर किसान को खतौनियों की आवस्यकता होती है और वो तहसील खतौनी दफ्तर में सुबह से आकर लाइन में लगकर अपनी खतौनी लेने आते है, लेकिन जब वो दफ्तर आते है तो यहां से सुनने को मिलता है सर्वर नही आ रहा है और किसानों को मायूस लौटना पड़ता है | बताते चलें कि तहसील हसनगंज जनपद की सबसे बड़ी तहसील है और 514 राजस्व ग्राम है, और 40 से 50 किलोमीटर की दूरी से लोग खतौनी लेने आते है और सर्वर न होने से मायूस लौटते है |

सरौंहा निवासी अतीश शुक्ल ने बताया कि हम 35 किलोमीटर दूरी से यहां आकर खतौनी लेने आये है और यहां सर्वर ही नही है पूरा दिन यही हो गया कोई काम भी नही हुआ, वही राघवेंद्र सिंन्ह पुत्र रामदुलारे ने बताया कि माखी से आया हूँ और वो 40 किलोमीटर की दूरी पर है, साथ ही उराइखेड़ा परगना औरास के मनीराम ने बताया कि 30 किलोमीटर की दूरी से इंटखाफ लेने आया हूँ और यहां सर्वर भी नही है यूं ही वापस जाना पड़ रहा है, रैनापुर निवासी मनोज ने बताया कि 11 किलोमीटर की दूरी से 3 दिन से रोज आ रहा हूँ, लेकिन सर्वर न आने से वापस लौटना पड़ा रहा है घर के काम छोड़ कर सारे दिन का हर्जा कर के यहां आना पड़ता है और यहां इंतखाफ न मिलने से बहुत ही समस्या होती है |

तहसीलदार अनिल कुमार ने बताया कि सर्वर की दिक्कत नेट प्रॉब्लम है और इसकी शिकायत NIC में कई है जहाँ से अस्वासन मिला है कि जल्द ही ठेड़क हो जाएगा, उन्होंने बताया कि सर्वर कभी आता है तो कभी धीमा चलता है जिससे खतौनी निकलवाने में समस्या हो रही है ।

रिपोर्ट – राहुल राठौड़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here