रिश्वतखोर सरकारी अधिकारियों को सबक सिखाने के लिए 2 किसानों ने अपनाया अनोखा तरीका, उनके ऑफिस में छोड़ दिए 3 दर्जन से ज्यादा जहरीले सांप

0
567

snake

लखनऊ- रिश्वतखोरी आज हमारे देश में एक बहुत बड़ी समस्या बनकर उभर रही हैं, आपको अगर कोई भी काम करवाना हैं तो वह बिना रिश्वत के हो ही नहीं पाता इसमें मारे जाते हैं देश के बेचारे गरीब किसान, मजदूर और वह लोग जिनको उनके अधिकारों के बारे में जानकारी नहीं, कभी-कभी तो लोग इन सभी समस्याओं से घबराकर आत्महत्या तक कर डालते हैं | लेकिन आपको बता दें कि यूपी के बस्ती जिले के दो किसानों ने इस रिश्वत खोरी से तंग आकर दोषी अधिकारियों को ऐसा सबक शिखा दिया कि अब वे शायद पूरी जिंदगी रिश्वत नहीं लेंगे |

यूपी के बस्ती के दो किसान नरहरपुर गाँव के पास की उनकी जमीन का टैक्स रिकॉर्ड चाहते थे | वो कई बार कर-विभाग के दफ्तर गए और उनसे मिन्नतें की | वहाँ के बाबुओं ने उनसे इस रिकॉर्ड के बदले रिश्वत माँगी | उन्होंने इसकी मौखिक शिकायत ऊपर के अधिकारियों से की, पर अधिकारी और बाबुओं के कानों पर जूँ नहीं रेंगी | इससे आजिज होकर दोनों किसानों ने घूम-घूम कर कई जहरीले साँपों को पकड़ा | 3 बैग में अलग-अलग प्रजातियों के 40 जहरीले साँप भरे तथा इन विषैले साँपों में से चार कोबरा के भी थे | दोपहर में साँपों से भरे उन बैगों को वो उस दफ्तर में लाए जहाँ उनकी फाइल कई सप्ताह से लटकी पड़ी थी |

snake1

सारे बाबूओं को काम में व्यस्त देख उन्होंने आँख बचाते हुए वो बैग खोल दिए जिससे एक-एक कर सारे साँप बाहर आकर जमीन पर रेंगने लगे | जब तक बाबुओं की नजर उन पर पड़ती तब तक कोबरा साँप उनकी कुर्सी और टेबल के काफी करीब आ चुके थे |

साँपों पर नजर पड़ते ही बाबुओं ने शोर मचाना शुरू कर दिया | उनका शोर सुनकर सैकड़ों लोगों की भीड़ दरवाजे पर जमा हो गई | हड़बड़ाहट में बाबुओं ने टेबल की चादरें साँपों पर फेंकनी शुरू कर दी ताकि साँप चादर में लिपट कर फँस जाए |

परंतु, यह शायद उनकी किस्मत थी कि सारे साँप जहाँ-तहाँ बिखर गए और किसी को काटा नहीं | वरना, बाबुओं के घूस माँगने का अंजाम कई लोगों को जान देकर चुकानी पड़ती | लोगों की मदद से किसी तरह सारे कर्मचारी खिड़कियों से कूद कर भागे | उन दो किसानों की पहचान हुक्कुल खान और रामकुल राम के रूप में की गई थी |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here