भ्रष्टाचार के खिलाफ किसानों ने किया चक्का जाम

0
92

मऊरानीपुर (झांसी)- सरकार बदली तो लोगों की उम्मीदें बढ़ गईं, लोगों को लगा कि अब अब शायद योगी सरकार में उन्हे भ्रष्टाचारी से राहत मिलेगी। लेकिन योगी सरकार को पूर्ण बहुमत देने वाले किसान यह भूल गए कि वोट देने से सिर्फ मुख्यमंत्री बदलेंगें भ्रष्टाचारी नही। मऊरानीपुर के परेशान किसानों ने भ्रष्टाचारियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, और चक्का जाम कर सरकार तक अपनी बात पहुंचाने का प्रयास किया।

किसानों की यह भीड़ अपने अधिकारों के लिए इकट्ठी हुई है, काफी समय से किसानों को यह परेशानी है कि उनके साथ गेंहू खरीद केन्द्रों पर पक्षपात किया जाता है। यदि किसान किसी दलाल के माध्यम से जाते हैं तो उन्हे परेशानी नहीं होती लेकिन सीधे लाइन में लगकर गेहूं तुलवाने में उन्हे दो-दो दिन खड़े रहना होता है। इसके अलावा नम्बर आने पर बिना शुल्क दिए बिना उनका गेंहू नहीं तौला जाता। आरोप है कि 60 से 100 रु प्रति कुन्तल तक वसूली की जा रही है। इसकी शिकायत भी कई बार की गई लेकिन किसानों को राहत नहीं मिली। किसानों की इस परेशानी से निजात दिलाने के लिए बुंदेलखंड किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष पुष्पेन्द्र पाठक , राकेश साहू , इन्द्रा कुशवाहा , सुनैना महिला मोर्चा आदि लोगों ने किसानों को साथ लेकर सड़क जाम कर धरना प्रदर्शन शुरु कर दिया।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया लेकिन नाराज किसान अपनी समस्या को उपर तक पहुंचाना चाहते थे लेकिन अपनी समस्या के निदान के बाद ही जाम खोलने को तैयार थे। इसके बाद जब किसान नहीं माने तो एसडीएम सुनील कुमार ने मौके पर पहुंच कर किसानों से उनकी मांगों को पूरा करने का वादा किया साथ ही किसानो को आश्वासन दिया कि उन्हे इस तरह की दिक्कत वह नहीं होनें देंगे। जिसके किसानों ने जाम खोला, हालांकि इस जाम की वजह से आम आदमी को घंटो जाम में खड़े रहना पड़ा जिससे उन्हे काफी तकलीफ का सामना करना पड़ा।

रिपोर्ट- रवि परिहार 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here