महिला डॉ. के ना आने से महिला मरीजों को हो रही दिक्कत, पर शासन और अधिकारी चुप

0
115


उन्नाव : जहां एक तरफ महिला चिकित्सक की मनमानी के चलते ड्यूटी पर न आकर महीने में एक बार आकर हस्ताक्षर बना कर सरकार का लाखो का चूना लगाया जा रहा वहीं दूसरी ओर महिला मरीजों को चिकित्सक न होने से मुसीबत उठानी पड़ रही है विभागीय अधिकारी जानकारी होने के बावजूद लाचार बने हुए है ।

नगर पंचायत मोहान के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 20 दिन बाद भी महिला चिकित्सक के न आने से महिला मरीजो को मायूस होकर लौटना पड़ रहा है जहाँ एक ओर सरकार जननी सुरक्षा योजना में दवाये, सुविधाये मुहैया कराने के लिए लाखो करोडो रुपये खर्च कर रही है वही एक महिला चिकित्सक द्वारा अस्पताल आना मुनासिब नही समझा जा रहा है सबसे बड़ी टाउन एरिया मोहान में स्थित phc में महिला चिकित्सक का महीने का वेतन निकल जाता है लेकिन उनको एक दिन भी ड्यूटी करना रास नही आता है प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कहने को तो 10 लोगो का स्टाफ है लेकिन उसमे एक महिला चिकित्सक सहित वार्ड ब्यॉय व् ए एन एम् की उपस्थिति महीनो में भी मुश्किल बनी हुई है जब की अस्पताल चिकित्साधिकारी द्वारा गैर हाजिर कर सूचनाये जिला मुख्यालय भेजने के बाद भी उच्च अधिकारी असहाय बन कर रह गए है और महिला चिकित्सक द्वारा महीनो में एक बार आकर गैर हाजिर होने बावजूद उपस्थिति पंजिका में अपनी उपस्थिति दर्ज कर दी जाती है मोहान के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की ये बदहाली विगत तीन वर्षो से चली आ रही है महिला चिकित्सक की मनमानी से टाऊन समेत कई गाँवों के की महिला मरीजो को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है |

मोहान चेयरमैन समरजीत यादव ने बताया की महिला चिकित्सक की शिकायत कई बार की गई लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई | जहां एक ओर मुख्यचिकित्सा अधिकारी हसनगंज, ओरास, नवाबगंज की स्वास्थ्य केंद्र का निरिक्षण करते है तो जहा मोहान से इतनी शिकायत आ रही है वहां का निरिक्षण क्यों नहीं किया जाता है | जहाँ एक दिन अनुपस्थित मिले चिकित्सक या कर्मचारी का वेतन काट देने का आदेश हो जाता है वहीं महीनों अनुपस्थित रहने वाली महिला चिकित्सक का वेतन कैसे निकल जाता है ये कहीं न कहीं अधिकारियों की मिलीभगत को दर्शाती है |

मोहान प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्साधिकारी डा. सचिन ने बताया की महिला चिकित्सक डा. दीप माला की नियुक्ति है लेकिन अस्पताल न आने से महिला मरीजों को परेशानी होती है, जिससे किसी तरह दवाये देकर काम चलाया जा रहा है इनके अनुपस्थित रहने की सूचना मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दी जा चुकी है |

रिपोर्ट – राहुल राठौर

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY