उच्चाधिकारियों के गैरजिम्मेदाराना रवैये के चलते प्राथमिक शिक्षाबनी बदहाल

0
72
प्रतीकात्मक

प्रतापगढ़ : (ब्यूरो) – स्थानीय विकास खंड के अन्तर्गत सांगीपुर”लालगंज,सहित पूरे क्षेत्र में प़ाथमिक शिक्षा पूरी तरह बदहाली के आलम में आंसू बहा रही है। सर्व शिक्षा अभियान के अन्तर्गत सरकार भले खुले मन से प्रयत्नशील हो परन्तु प्राइमरी शिक्षा को बंटा धार करने के लिए क्षेत्र के उच्चाधिकारी ही मुख्य रुप से जिम्मेदार हैं |

वहीं अधिकारियों की उदासीनता का लाभ मातहत अच्छी तरह भुनाने में पूरी तरह तल्लीन है वहीं ड्यूटी के प्रति लापरवाही का आलम देखते ही बनता है, इतना ही नहीं साहब आलम तो यह है कि कुछ एक शिक्षक तो कई सालों से विद्यालय न जाकर घरों में बैठकर बड़े ठाट से तनख्वाह लेते देखे जा सकते है।

कमोबेश यही हाल पूरे तहसील लालगंज क्षेत्र का है देश के नौनिहालों के साथ शिक्षा के मन्दिर में जिस तरह का खिलवाड़ अबाध गति से जारी है उससे देश के इन कर्णधारों के भविष्य पर प्रश्न चिन्ह लगना जहां लाजिमी है वहीं प्राथमिक शिक्षा का पूरा ढांचा चरमरा गया है।

अब लोगों को योगी सरकार से उम्मीदजरूर बंधी है कि शायद राम भरोसे चल रही प़ाथमिक शिक्षा को शायद पटरी पर लाया जा सके | फिलहाल क्षेत्र के लोगों को इन्तजार रहेगा बदहाल शिक्षा ब्यवस्था को दूर करने का लेकिन ये तो भविष्य बतायेगा।

वहीं जब अखंड भारत के संवाददाता ने क्षेत्र में तैनात प्राथमिक शिक्षा की बदहाली के बारे में बेसिक शिक्षा अधिकारी से  दूरभाष के जरिये सम्पर्क करना चाहा तो उनका मोबाइल स्विच ऑफ़ मिला | इससे स्वयं अन्दाजा लगाया जा सकता है कि जब साहब का ये हाल है तो मातहतों का क्या होगा ? आखिर कब सुधरेगी बदहाल प़ाथमिक शिक्षा ?

रिपोर्ट : डा.आर.आर. पाण्डेय
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY