बस्ती पर कब्जे के लिए भाजपा,बसपा और सपा मे लड़ाई

0
99

प्रतीकात्मक

गोरखपुर ब्यूरो : दलित और पिछड़ा वर्ग बाहुल्य उत्तर प्रदेश के बस्ती की पांच विधान सभा क्षेत्रो मे भाजपा सूखा खत्म करने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रही है वही बसपा और सपा के सामने अपना-अपना किला बचाने की कड़ी चुनौती है राज्य विधान सभा चुनाव के पाचवें चरण मे यहां २७ फरवरी को वोट डाले जायेगे केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद भाजपा घोषणा पत्र मे गरीब,किसान और महिलाओं के लिए लोकलूभावन वायदे का आंशका का असर सहां देखा जा रहा है|

क्षेत्रीय समस्याओ के अलावा जातिपात के नाम पर बंटने वाले मतदाता का रूझान भाजपा की ओर है और यही कारण है कि पांचो सीटो पर मुकाबला त्रिकोणीय नजर आ रहा है|बर्ष २०१२ मे यहां बसपा और सपा ने दो-दो सीटो पर कब्जा किया था जबकि एक सीट पर काग्रेस को बिजय हासिल हुई थी|

मौजूदा चुनाव मे सपा के पूर्व मंत्री राजकिशोर सिंह एक बार फिर मैदान मे है|वही सपा सरकार मे राज्यमंत्री रामकरन आर्य महादेव(सु) से अपनी किस्मत आजमा रहे है|जिले के पांचों विधान सभा मे कुल १८ लाख दस हजार १३६ मतदाता है जो ५८ प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेगे|

रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY