बंदी की पिटाई एवं दबंगई करने वालों पर FIR

0
60

सुल्तानपुर(ब्यूरो)- बंदी की पिटाई के मामले में जेलर समेत तीन जेलकर्मियों एवं ट्रक मालिक से अपने अधिकारों का दुरूपयोग कर बाहुबलियों की मदद से ट्रक छीनने के आरोप में शाखा प्रबन्धक व संग्रह अधीक्षक समेत अन्य के खिलाफ सीजेएम विजय कुमार आजाद ने दोनों ही मामलों में एफ आईआर दर्ज कर जांच के आदेश दिए है।

दोनों ही मामले कोतवाली नगर थानाक्षेत्र से जुड़े है। पहले मामले में अभियोगी शहाबुद्दीन निवासी घरहां खुर्द ने कोर्ट में दी गई अर्जी में आरोप लगाया है कि उसका बेटा आदिल उफर् रूकसार हत्या के मामले में जेल में निरूद्ध रहा। जेल प्रशासन ने जिसका जेल स्थानान्तरण मेरठ जिले के लिए कर दिया था, लेकिन उस पर अदालत ने रोक लगा दी थी। आरोप के मुताबिक अपनी मनमानी न कर पाने के कारण जेलर व उसके सहयोगी हेड अशोक तिवारी तथा जेलकर्मी अशोक यादव ने 18 मई 2016 को जेल अस्पताल में इलाज के लिए गए होने के दौरान ने जमकर मारापीटा। इस बात की जानकारी जब परिजनों ने आदिल से जेल में मुलाकात की तो हो पाई। इस मामले में सीजेएम विजय कुमार आजाद ने जेलर समेत तीनों आरोपियों के खिलाफ एफ आईआर दर्ज कर जांच के आदेश दिए है।

दूसरे मामले में कोतवाली नगर क्षेत्र के पांचोपीरन कस्बा निवासी मो. राज खान ने आरोप लगाया है कि एचडीएफ सी दरियापुर शाखा के प्रबन्धक व संग्रह अधीक्षक राघवेन्द्र सिंह ने ऋण पर लिए गए उसके ट्रक को जबरन बाहुबलियों की मदद से छीन लिया और उसे वापस मांगने पर 17.60 लाख रूपये ब्याज के साथ मांगने पर ही देने की बात कही। इसी मामले में सीजेएम ने आरोपी शाखा प्रबन्धक व संग्रह अधीक्षक राघवेन्द्र सिंह एवं पांच-छ: बाहुबलियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए है।

रिपोर्ट- संतोष यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here