नकल कराने वालो,परीक्षा की शुचिता को बदनाम करने वालो के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी जाये : डी.एम.

0
73


मैनपुरी : जिला प्रशासन नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए कृत संकल्पित है, हाई स्कूल,इण्टरमीडिएट की मुख्य परीक्षाओ में प्रत्येक सेन्टर पर जिला प्रशासन का कोई न कोई अधिकारी तैनात रहेगा। जिन परीक्षा केन्द्रों पर किसी कक्ष में 02 से कम कक्ष निरीक्षक होगें, तो केन्द्र व्यवस्थापक, जिला विद्यालय निरीक्षक जिम्मेदार होगें ऐसे केन्द्र व्यवस्थापको को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाये और उन्हंे 05 वर्षो तक केन्द्र व्यवस्थापक न बनया जाये। गणित के पेपर में सचल दलों का क्षेत्र निर्धारित किया जाये यदि किसी के क्षेत्र में नकल हुई या नकल की शिकायतें प्राप्त हुई तो उड़नदस्ता प्रभारी की जिम्मेदारी तय कर प्रतिकूल प्रविष्टि दी जायेगी। उप जिलाधिकारी अपने अपने क्षेत्र के सेक्टर,स्टेटिक मजिस्ट्ेट की समय से उपस्थिति सुनिनिश्चित कराय,े अनुपस्थित पाये जाने वाले सेक्टर,स्टेटिक मजिस्ट्ेट की रिपोर्ट भेजे, लापरवाही बरतने वालेां के विरूद्ध सख्त कार्यवाही होगी।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी चन्द्र पाल सिंह ने माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षाओ से संबंधित बैठक के दौरान दियें। उन्होने बैठक में उपस्थित अधिकारियो,सचल दल प्रभारितयो से साफ तौर पर कहा कि नकल किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं होगी, नकल विहीन परीक्षा कराने की जिसे जो जिम्मेदारी सौंपी है वह उसे निभाये अन्यथा दण्ड भोगने के लिए तैयार रहे। उन्होने उप जिलाधिकारियों से कहा कि निरीक्षण के दौरान प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर किसी कक्ष में कम से कम 10-15 छात्रों की उत्तर पुस्तिका अवश्य देखे यदि उत्तर एक जैसे हो तो उसके फोटोग्राफस लेकर प्रिन्ट आउट निकालें और सामूहिक नकल की रिपोर्ट तैयार करें, ऐसे परीक्षा केन्द्र डिबार होगें, जहां सामूहिक नकल की शिकायते मिलेगी या सामूहिक नकल में संलिप्त पाये जायेगें।

श्री सिंह ने बैठक में 20 मार्च को हाई स्कूल की गणित की परीक्षा में तैनात सचल दलो का क्षेत्र निर्धारित किया है। जिला विद्यालय निरीक्षक किशनी क्षेत्र में,जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भोगांव तहसील क्षेत्रान्र्तगत 35 परीक्षा के़न्द्रो, प्राचार्य डायट भोगांव क्षेत्र के ही 36 परीक्षा केन्द्रों,राजकीय इण्टर कालेज परौंखा के प्रधानाचार्य कुरावली क्षेत्र के परीक्षा केन्द्रों,राजकीय इण्टर कालेज रोशिंगपुर के प्रधानाचार्य करहल क्षेत्र में,तहसीलदार सदर मैनपुरी क्षेत्र में परीक्षा केन्द्रों पर निरन्तर भ्रमण कर गणित की परीक्षा को नकल विहीन सम्पन्न कराना सुनिश्चित करेगें।

उन्होने कहा कि माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षाओ शुचितापूर्वक नकल विहीन सम्पन्न कराने की सीधाी जिम्मेदारी केन्द्र व्यवस्थापक ,कक्ष निरीक्षको,सचल दलों तथा जिला विद्यालय निरीक्षक की है। यदि यह चारों ईमानदारी,निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करेगें तो किसी भी परीक्षा केन्द्र पर नकल होने की गुंजाइश ही नहीं बचेगी। उन्होेने उप जिलाधिकारियेा से कहा कि वह अपने अपने क्षेत्रान्र्तगत स्थापित संकलन केन्द्रेां पर एक एक कर्मी की तैनाती कर दें और उनके माध्यम से उत्तर पुस्तिकाओ के जमा होने की फीड बैक लें।यदि किसी परीक्षा केन्द्र से विलम्ब से उत्तर पुस्तिकायें जमा करायी जाये तो उसकी जांच कर विलम्ब के लिए दोषी पाये जाने वालेां के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी जाये।

श्री सिंह ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा मेें सख्ती के चलते पहले 02 ही दिन में हाई स्कूल के 47043 परीक्षार्थियो में से 9328 परीक्षार्थियो ने परीक्षा छो़ड़ी जो पंजीकृत छात्रों का लगभग 20 प्रतिशत है वहीं इण्टरमीडिएट के 35835 परीक्षार्थियो में से 6294 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छो़ड़ी जो पंजीकृत छात्रों का लगभग 18 प्रतिशत है।

बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक शिष्य पाल ,उप जिलाधिकारी भोगांव, करहल,किशनी,घिरोर,कुरावली संदीप कुमार, राजेश कुमार, अविनाश मौर्य,देवेन्द्र,महेश प्रकाश,जिला विकास अधिकारी जे.एन.कुरील,जिला विद्यालय निरीक्षक आरपी यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रामकरन आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY