फिरोजाबाद रसूलपुर गत्ता फैक्ट्री में लगी भीषण आग, सिलेंडर फटे, भारी नुकसान |

0
475
gatta factory
फीरोजाबाद नया रसूलपुर स्थित पेमेश्वर गेट के समीप गत्ता फैक्ट्री में उठते धूआं को देख क्षेत्र में अफरा तफरी मच बुद्धवार रात करीब तीन बजे भीषण आग लग गई। जिले भर की दमकलों को मौके पर बुला लिया गया। करीब आठ घंटे के अथक प्रयास के बाद फायर विभाग के कर्मचारियों ने आग पर काबू पाया। फैक्ट्री मालिक ने रंजिशन आग लगाने की बात कही है।
आग से करीब एक करोड़ से अधिक के नुकसान का अनुमान है।रसूलपुर निवश्याम गुप्ता की नया रसूलपुर पेमेश्वर गेट के समीप गत्ता फैक्ट्री है। रात करीब तीन बजे फैक्ट्री से आग की लपटों के साथ उठते धूआं को देख क्षेत्र में अफरा तफरी मच गई। सूचना पर फैक्ट्री मालिक भी पहुंच गए। फायर विभाग की गाड़ियां भी मौके पर पहुंच गईं। फायर कर्मचारियों के साथ क्षेत्रीय लोगों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया लेकिन फैक्ट्री के मुख्य गेट सहित अन्य गेट अंदर से लॉक होने के कारण आग पर जल्द काबू नहीं पाया जा सका। फैक्ट्री के अंदर रखे एलपीजी के तीन गैस सिलेंडरों के साथ डीजल और केमिकल ने भी आग पकड़ ली। आग पर काबू पाने के लिए फायर विभाग के कर्मचारियों ने क्षेत्रीय लोगों की मदद से गेट को तोड़ना शुरू कर दिया। इसी बीच आग की लपटों के बीच जल रहे गैस सिलेंडर धमाके के साथ फट गए। सिलेंडरों के फटते ही फैक्ट्री की बिल्ड़िग चटक गई और उसके ऊपर पड़ा टीनशेड भी उड़ गया। टीन शेड के टुुकड़े रेलवे लाइन किनारे तक गिरे। गनीमत रही टीनशेड के टुकडे़ रेलवे लाइन के तारों से नहीं टकराए।
फैक्ट्री का मुख्य गेट तोड़ने के बाद गुरुवार दोपहर तक आग पर काबू पाया जा सका। फायर स्टेशन प्रभारी राजेश चौरसिया ने फीरोजाबाद के साथ टूंडला, शिकोहाबाद और सिरसागंज से भी दमकलों को मौके पर बुला लिया था। फैक्ट्री मालिक श्याम गुप्ता का कहना है कि आग रंजिशन लगाई गई है। कुछ माह पूर्व फैक्ट्री में चोरी की वारदात को अंजाम देते समय एक युवक को पकड़ा भी गया था। उसी युवक पर आग लगाने का शक जाहिर किया गया हैबैंसमेंट में लगी आग पर काबू पाने में छूटे पसीनफायर विभाग के कर्मचारियों के साथ क्षेत्रीय लोगों को बैसमेंट में लगी आग पर काबू पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। बैसमेंट पूरी तरह से आग की लपटों के बीच घिरा था। उसमें कागज के रोल रखे हुए थे। नीचे जाने के लिए कोई रास्ता भी नहीं था। जंगलों के माध्यम से बैसमेंट में पानी डाला गया तब जाकर आग पर काबू पायलगातार दौड़ी दमकलें, सबमर्सिबल भी चलाए
आग पर काबू पाने के लिए फायर स्टेशन प्रभारी ने टूंडला, शिकोहाबाद और सिरसागंज से दमकलों को बुला लिया लेकिन उनका पानी भी कम पड़ गया। इसके लिए क्षेत्रीय लोगों ने सबमर्सिबल से आग बुझाने के लिए पानी डालना शुरू कियातो बर्बाद हो गया
अपनी आंखों के सामने तबाही का मंजर देख रहे श्याम गुप्ता के मुंह से बार-बार एक ही शब्द निकल रहा था। भाई साहब बर्बाद हो गया, बड़ी मेहनत से बिल्डिंग तैयार कर फैक्ट्री लगाई थी। क्या पता था कि दुश्मन बिल्डिंग तक नहीं छोड़ेगा।

समाचार सूत्र – ओमकार भरद्वाज

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here