योगी असर – 100 साल में पहली बार बंद रही टुंडे कबाब की दुकान, खुली तो चिकन और मटन के साथ

0
1285

लखनऊ- योगी आदित्यनाथ के सत्ता संभालते ही प्रदेश में इसका असर दिखना शुरु हो गया है दरअसल आपको बता दें कि लखनऊ में तकरीबन 100 साल में ऐसा पहली बार हुआ है कि जब दुनिया भर में प्रसिद्ध लखनऊ की टुंडे कबाबी की दुकान पर ताला लगा हो। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में टुंडे कबाबी की दो दुकाने हैं जिनमें से एक अमीनाबाद और दूसरी लखनऊ के चौक इलाके में स्थित है।

100 सालों में पहली बार गोश्त की सप्लाई ना होने पर बंद करनी पड़ी दुकान-
मीडिया में आई रिपोर्ट्स के माध्यम से प्राप्त जानकारी के आधार पर बताया जा रहा है कि टुंडे कबाबी के तकरीबन 16 साल के इतिहास में बुधवार को यह पहला मौका था कि जब दुकान पर गोश्त की सप्लाई ना होने पर टुंडे कबाबी की अमीनाबाद इलाके में स्थित दुकान को 1 दिन के लिए बंद करना पड़ा है। अकबरी गेट वाली दुकान को खोल कर रखा गया था लेकिन यहां पर सिर्फ चिकन और मटन केहि कबाब मिल रहे थे।

देश के प्रतिष्ठित अंग्रेजी इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक लखनऊ में चल रहे अवैध बूचड़खानों को बंद किया जा चुका है लखनऊ म्युनिसिपल कारपोरेशन के चीफ वेटरनरी ऑफिसर एके राव ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया भाई की प्रदेश भर में तकरीबन 250 से अधिक आवाज बूचड़खाने हैं अब प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद इन सभी बूचड़खानों पर तत्काल कार्यवाही करते हुए इन्हें बंद किया जा रहा है जिसका असर मांस की सप्लाई पर देखा जा रहा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY