पांच दिन पूर्व सर्प दंश से मृत किशोर को जीवित करने के दावे पर उमड़े सैकड़ों लोग, नहीं आया तांत्रिक

0
52

बांगरमऊ/उन्नाव(ब्यूरो)- कोतवाली क्षेत्र के ग्राम आशायस में पांच दिन पूर्व सर्प दंश से मृत किशोर को कब्र से निकाल कर जीवित करने का दावा करने वाले तांत्रिक के इंतजार में क्षेत्र के साथ आसपास जिलों के हजारों लोगों ने कब्र के पास बैठकर पूरा दिन गुजार दिया। तांत्रिक के न आने पर अंधविश्वास में फंसे लोग उसे अपशब्द बकते हुए घर चले गए।

गुरुवार की शाम गांव स्थित गौरी शंकर इंटर कालेज में भंडारे का आयोजन था। जिसमें शामिल होने गुड्डू यादव का पुत्र अमित (14) भी गया था। शाम पांच बजे नीम की खोह से निकले सर्प ने उसे डस लिया था। हालत बिगड़ने पर परिजनों ने उसे सीएचसी में भर्ती कराया। जहां से उसे ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया था। बीच रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। परिजनों ने शुक्रवार को अपने ही खेत में कब्र खोदकर शव को दफना दिया।

मौत के बाद पीड़ित पिता के किसी रिश्तेदार ने मलिहाबाद के ग्राम जमुलियाखेड़ा निवासी किसी तांत्रिक से दूरभाष पर घटना की जानकारी देकर मदद की गुहार की थी। तांत्रिक ने पांचवे दिन मंगलवार को आकर किशोर को कब्र से निकालकर झाड़ फूंक के द्वारा जीवित कर देने का दावा किया। किशोर को जीवित करने की चर्चा क्षेत्र ही नहीं हरदोई, कन्नौज और कानपुर जिले तक पहुंच गई। मंगलवार सुबह से ही आस पड़ोस के गांवों के साथ अन्य जिलों से लोगों का आना शुरू हो गया। दोपहर होते-होते गांव में हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई। तांत्रिक शाम चार बजे आने की बात फोन पर करता रहा पर चार बजे के बाद उसने फोन बंद कर लिया। उसके न आने पर अधंविश्वास में फंसे लोग उसे अपशब्द बकते हुए अपने घर को चले गए।

रिपोर्ट- गिरीस त्रिपाठी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY