किशोरी से दुष्कर्म प्रयास मामले में दोषी को पांच साल की कैद

0
47

सुल्तानपुर (ब्यूरो) –अनुसूचित जाति की किशोरी से दुष्कर्म प्रयास समेत अन्य आरोपों से जुड़े मामले में स्पेशल जज पाक्सो एक्ट ने आरोपी को दोष सिद्ध ठहराया है। स्पेशल जज आरपी सिंह ने दोषी को पांच वर्ष के कारावास एवं बीस हजार रूपये अर्थदंड की सजा सुनाई है|  मामला जयसिंहपुर कोतवाली क्षेत्र के करिया बझना गांव से जुड़ा है। जहां के रहने वाले अवरेंद्र सिंह सुत जयराम सिंह के खिलाफ अभियोगी ने 18 जून 2014 की घटना बताते हुए मुकदमा दर्ज कराया। आरोप के मुताबिक अभियोगी भोजन करने के बाद गर्मी के कारण घर के बाहर चारपाई पर सो रहा था। उसी की चारपाई पर उसकी सात वर्षीय पुत्री भी लेटी हुई थी। इसी बीच मौका पाकर आरोपी अवरेंद्र सिंह चुपके से किशोरी का मुंह दबाकर उसे सुनसान जगह पर उठा ले गया जहां पर उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया।

इस मामले में आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का प्रयास व पाक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ। जिसमें पुलिस ने आरोप पत्र भी दाखिल किया। मामले का विचारण स्पेशल जज पाक्सो-एक्ट की अदालत में चला। इस दौरान बचाव पक्ष एवं अभियोजन पक्ष के शासकीय अधिवक्ता तारकेश्वर सिंह ने अपने-अपने साक्ष्यों एवं गवाहो को पेश किया। तत्पश्चात स्पेशल जज आरपी सिंह ने आरोपी अवरेंद्र को पाक्सो एक्ट की धारा व धमकाने समेत अन्य आरोपों में दोषी करार देते हुए पांच वर्ष के कारवास एवं बीस हजार रूपये अर्थदंड की सजा सुनाई है। अदालत ने जुर्माने की धनराशि वसूल होने पर पीड़िता किशोरी के पक्ष में 15 हजार रूपये शारीरिक व मानसिक क्षति के रूप में देने का भी आदेश पारित किया है।

रिपोर्ट – अंकुश यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here