बाढ़ से बदहाल इलाहाबाद, 145 गांव बाढ़ की चपेट में, राहत एवं बचाव कार्य में जुटी NDRF, सेना को अलर्ट जारी…

0
454

Flood
इलाहाबाद। जनपद में गंगा-यमुना सहित अन्य नदियों के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी जारी है। बाढ़ ने भयंकर रूप अख्तियार कर लिया है। शहर के फाफामऊ घाट व छतनांग एवं यमुना के जलस्तर में सोमवार की सुबह तेजी से वृद्धि हो रही है। रविवार की रात से अबतक शहर व ग्रामीण क्षेत्र के शिविरों में आठ हजार से अधिक शरणार्थी पहुंच चुके है। जिले में चालीस हजार से अधिक लोग फंसे हुए है।

बाढ़ नियंत्रण केन्द्र से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार की सुबह लगभग दस बजे तक गंगा के जलस्तर में हुई वृद्धि के बारे बताया जा रहा है कि फाफामऊ में गंगा का जलस्तर 86.01 मीटर और प्रति घंटे तीन सेंटीमीटर और छतनांग घाट में 85.34 मीटर जलस्तर है और प्रति घंटे दो सेंटीमीटर की दर से बढ़ रही है। यमुना का जलस्तर 85.90 मीटर पर है और खतरे का निशान पार कर चुकी है तथा जल स्तर में प्रति घंटे दो सेन्टीमीटर से अधिक की वृद्धि जारी है।

शहर के छोटा बघाड़ा, सलोरी, शिवकुटी, मेहदौरी, नयागांव, बेलीगांव, राजापुर, गंगानगर, बेली कछार, नेवादा, अशोकनगर, गोविंदपुर, दारागंज, बलुआघाट, करेली गौसनगर के निचले इलाकों में दो हजार से अधिक मकान बाढ़ की जद में आ चुके हैं। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों में लोग आशियाना छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाते रहे। रविवार की रात लगभग दो फुट पानी बढ़ा है। बाढ़ में फंसे लोग आशियाना खाली करके लोग दूसरे स्थानों पर जा चुके है और कुछ मकान के दूसरी मंजिल पर शरण लिये हुए है।

राजस्व टीमों की रिपोर्ट के मुताबिक गंगा और यमुना के कछार में सवा सौ से ज्यादा गांव बाढ़ से घिर गए हैं। इन क्षेत्रों में घरों के गिरने की स्थिति बन चुकी है। राहत टीमें बढ़ाई गई हैं। करीब 40 हजार से लोग तटीय इलाकों में घरों में फंसे हैं।

बाढ़ प्रभावित गांवों की संख्या 138 से बढ़कर 145 हो गयी है। गंगा व यमुनापार के दर्जनों गांवों में पानी घुस गया है। इनमें फाफामऊ, गद्दोपुर, मोरहू, महमदपुर, जगदीशपुर पूरे चंदा, पैगम्बरपुर आदि हैं तथा इसी तरह यमुनापार के मेजा, खीरी, कोरांव, बारा तहसील के कई गांवों में जलभराव हो गया है।

जनपद के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 86 बाढ़ चैकियों पर कर्मचारी तैनात किय गये है। इसके अतिरिक्त पुलिस कर्मचारियों को लगाया गया है। जिला प्रशासन के मुताबिक नगर के एनी बेसेन्ट गर्ल्स इण्टर कालेज में 900 से अधिक, महबूब अली इण्टर कालेज में 700 ऋषि कुलम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अशोक नगर में 300 से अधिक, स्वामी विवेकानन्द स्कूल अशोक नगर में 200, ईश्वर शरण इण्टर कालेज में भी 150 शरणार्थी पहुंचे।

राहत कार्यों के लिए सेना को अलर्ट कर दिया है। पीएसी और एनडीआरएफ को सक्रिय किया गया है। सलोरी, दारागंज, संगम क्षेत्र का मुआयना करने के बाद बाढ़ चैकियों से अलर्ट जारी किया गया कि जल भराव वाले इलाके में फंसे लोग नदी का किनारा छोड़ दें। खतरा बढ़ रहा है। संगम इलाके में नावों से पहुंची युवाओं की टोली हो या फिर गंगा पुल से सेल्फी ले रहे लोग, वायरलेस से मैसेज करके डीएम ने सेल्फी पर पाबंदी लगा दी।

डीएम ने रात में बाढ़ प्रभावित एरिया में एम्बुलेंस खड़ी कराईं। मजिस्ट्रेट रात में मुआयना करेंगे। उन्होंने कहा कि लोग घबराएं नहीं, जहां कहीं पर भी मुश्किलें आएं,
इन नम्बरों पर फोन करें :
नियंत्रण कक्ष- टोल फ्री नम्बर 1077, दूरभाष 0532-2641577, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) 9454417588, अपर जिलाधिकारी (नगर) 9454417809, सीएमओ 9454455138 और एम्बुलेंस-108 पर कॉल करें।

जिला संवाददाता – राजाराम वैश्य

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY