कुछ नियमित आहार जिनसे आपका ह्रदय रहेगा सुरक्षित |

0
301

care_for_your_heart_w640

आज के इस भाग दौड़ भरे जीवन में सबसे ज्यादा असर हमारी सेहत पर पड़ता है, और इस भाग –दौड़ के बीच हम अपने शरीर पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पते है, ह्रदय हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है इसलिए हमें इसकी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए | अपने खाने में कुछ चीजों के नियमित प्रयोग से आप अपने ह्रदय को स्वस्थ रख सकते हैं |

विटामिन K को ह्रदय के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है, हरी पत्तेदार सब्ज़ियां पालक और मेथी में विटामिन K अधिक मात्र में पाया जाता है, जो हृदय को सुरक्षा प्रदान करने में सहायता करते हैं। इसके साथ ही इन सब्ज़ियों में फाइबर अधिक मात्रा में होते हैं जो एल.डी.एल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाते हैं, जिससे हृदय-रोग की संभावना कम होती है। यह फोलेट का स्रोत होने के कारण होमोसिस्टीन नामक एमिनो एसिड को घटाने में मदद करता है जो एथिरोक्लेरोसिस, इस रोग से धमनी की दिवारें मोटी हो जाती है और रक्त के सचल प्रवाह में बाधा उत्पन्न होने लगता है, जो हृदय रोग का प्रधान कारण बन जाता है।

हृदय संबंधी समस्या में टमाटर प्राकृतिक रूप से सहायता प्रदान करता है। टमाटर में जो लाइकोपीन, बीटा-कैरोटीन, फोलेट, पोटेशियम, विटामिन सी, फ्लेवनाइड और विटामिन ई होते हैं, वे एल.डी.एल कोलेस्ट्रॉल, होमोसिस्टीन का स्तर, रक्त-चाप को कम करने में मदद करते हैं।

शिमला मिर्च बहुरंगी होते हैं। ये हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसमें विटामिन बी1 ,बी2 और बी6, विटामिन सी, फोलेट और फाइबर अधिक मात्रा में होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल और होमोसिस्टीन को कम करने में मदद करते हैं।

गाजर में कैरोटिनॉइड, विटामिन ए और सी, फाइबर अधिक मात्रा में होते हैं। गाजर में कैरोटिनॉइड और विटामिन सी फ्री रैडिकल्स से रक्त धमनी को नुकसान होने से बचाते हैं। फाइबर कोलेस्ट्रॉल के सोखने की प्रक्रिया को उन्नत करके हृदय के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।

प्याज़ में एक ऐसा यौगिक होता है जो रक्त को पतला करने में मदद करता है। यह भी कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है। जिन्हें हृदय संबंधी समस्या होती है, उन्हें एक प्याज़ रोज खानी चाहिए।

कोलेस्ट्रोल को मात्रा बढ़ने से धमनी पर बुरा असर होने लगता है. खाना बनाने के लिए जैतून तेल का प्रयोग करने से एल.डी.एल कोलेस्ट्रोल कम हो जाता है. इसके अलावा जैतून के तेल एंटीऑक्सीडेंट भी होता है जो अन्य कई बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।

ग्रीन चाय उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करता है. इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रोल को कम करते हैं इसके प्रयोग से असमान्य रक्त का थक्का जमने का खतरा भी कम हो जाता है।

लहसुन खाने से रक्तचाप कम हो जाता है. ये एल.डी.एल कोलेस्ट्रोल को भी कम करता है और साथ ही मधुमेह को भी नियंत्रित करता  है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

19 + twenty =