पं. दीन दयाल उपाध्याय की जन्मशताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला का आयोजन

0
43

गाजीपुर (ब्यूरो)- पं. दीन दयाल उपाध्याय की जन्मशताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के तत्वावधान एवं नेहरू युवा केन्द्र गाजीपुर के समन्वयन से आयोजित तीन दिवसीय अन्त्योदय मेंला/प्रदर्शनी/गोष्ठी का उद्घाटन सैदपुर विकास खण्ड परिसर में धूमधाम से सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि ओमप्रकाश एडवोकेट एवं मंचासीन अतिथियो ने पं. दीनदयाल के चित्र पर माल्यार्णप कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। सर्वप्रथम उन्होने विभाग के लगे स्टालो व सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के लगाये गये स्टालो का अवलोकन किया। सभागार में आयोजित गोष्ठी मुख्य अतिथि ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय जी के सादगी भरे जीवन से वर्तमान पीढ़ी को सबक लेना चाहिए। उनका व्यक्तित्व अनुसरण योग्य है। इस तरह के महापुरूषो से ही भारत विश्व में शक्तिशाली रहा है। उनकी सोच यदि सही अर्थो में क्रियान्वित हो जाय तो वास्तव में अन्तिम व्यक्ति का उद्धार हो जाय।

नगर पालिका चेयरमैन ने पं. दीनदयाल उपाध्याय के विचारों पर कहा कि इन्सान अपने कर्मो से चहता है कि ज्यादा मिल जाय। जब कि संसाधन सीमित है। उनके हित के कार्यक्रमों में भी सहभागिता नही करते क्योकि उन्हे लगता है इससे उन्हे फायदा नही है और इनसे कुछ सीख भी नही सकते है। खण्ड विकास अधिकारी पवन कुमार सिंह ने कहा कि पं. दीनदयाल जी मानववादी एवं एकात्मवादी विचारो के थे उन्होने अपने जीवन में सबको उनके विचारो पर अमल करना चाहिए। कार्यक्रम के अन्त में राष्ट्रगान से सम्बोधित किया गया। अपर जिला सूचना अधिकारी राकेश कुमार ने अपने सम्बोधन में कहा कि पं. दीनदयाल जी का जीवन सादगी से भरा था। वह अच्छे साहित्यकार के साथ अच्छे पत्रकार भी थे। उनका विचार दर्शन अन्त्योदय सबसे पायदान पर स्थित व्यक्ति के विकास की बात करते थे। वो एकात्म मानववाद विचार धारा के व्यक्ति थे| पं. दीनदयाल उपाध्याय भारत के सबसे तेजस्वी तपस्वी एवं यशस्वी चिन्तक रहे है। उनके चिन्तन के मूल में लाकमंगल और राष्ट्र का कल्याण समाहित है। उन्होने पं. दीनदयाल जी का कहना था हमारी राष्ट्रीयता का आधार भारत माता है, वे समन्वयवादी दृष्टि के व्यक्ति भी थे ये ज्यादा लोगो की समस्या का समाधान समन्वय में तलाशते थे। अन्त्योदय मेला/प्रदर्शनी में विभागों की सहभागिता रही, जिसमें पशुपालन विभाग, स्वास्थय विभाग, कृषि विभाग, इफ्को फिल्ड, महिला एवं बाल विकास कल्याण योजना, स्वच्छ भारत मिशन, कुष्ठ विभाग, एवं सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग उ0प्र0 आदि विभागो के स्टाल लगाये गये जिसमें लोगो द्वारा अच्छी जानकारी लाभार्थियों एवं जनता को दी गयी।

इस अवसर पर सभी विभाग के प्रतिनिधि एवं सूचना विभाग के धनन्जय कुमार (क0आ0), आमिर अंसारी, सतीश, रामदुलारे एवं क्षेत्र के समस्त सफाईकर्मी और बडी संख्या में आम जनता उपस्थित थी। गाजीपुर 17 जुलाई 2017। पं0 दीनदयाल उपाध्याय की जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य मेें सैदपुर ब्लाक पर तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला/प्रदर्शनी/गोष्ठी का आयोजन दिनांक 18 जुलाई 2017 तक 10ः00 से 03ः00 बजे तक किया जायेगा। इस अवसर पर पं. दीनदयाल उपाध्याय के जीवन और विचार पर भाषण प्रतियोगिता भी आयोजित होगी। विकास खण्ड के विद्यालयों के बच्चो की उपस्थिति प्रार्थनीय है। सभी विभागों द्वारा स्टाल लगाने की अपेक्षा है। जिला सूचना अधिकारी ने समस्त अधिकारियो को सूचित किया है कि अपने अपने विभागों के स्टाल ससमय लगवाने का कष्ट करें। अनुपस्थित पर शासन को कार्यवाही हेतु रिपोर्ट प्रेषित की जायेगी। बेसिक शिक्षा विभाग, वन विभाग, खादी ग्रामोद्योग विभाग, उद्यान विभाग, सेवायोजन विभाग, समाज कल्याण , पिछड़ा विभाग, द्विब्याग विभाग, कौशल विकास मिशन एवं आदि अन्य विभागो के स्टाल नही लगाये जा रहे है उन्हें निदेशित किया जाता है कि वे अपने अपने स्टाल की सहभागिता अवश्य करे जिससे मेला/प्रदर्शनी को सकुशल बनाया जा सके।

रिपोर्ट- डॉ. विजय प्रकाश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY