बीमार बेटी के इलाज के लिये लाचार पिता ने प्रशासन से लगाई गुहार

0
201

new-life-line-multi-speciality

जौनपुर (ब्यूरो)- एक पिता ने अपनी बेटी के इलाज के लिये अपना सबकुछ दाँव पर लगा दिया। लेकिन बेटी की बीमारी ठीक नहीँ हुई। जौनपुर में कई डाक्टरों से इलाज करवाया लेकिन बेटी की हालत दिन प्रतिदिन खराब होती चली गई। डाक्टरों ने बताया की आपकी बेटी के दिमाग में पानी भर गया हैं, स्थिति बेहद गम्भीर हैं।

यह सब जान होश खो चुके पिता बेटी के इलाज के लिये बीएचयू गये। जहाँ से डाक्टरों ने यह कह कर रेफर कर दिया की आखिरी स्टेज हैं घर लेकर जाओ। लेकिन एक बाप का दिल नही माना औऱ बनारस के ही प्राइवेट चिकित्सालय लाइफ लाइन में अपनी बेटी को दिखाया। डाक्टरों ने कहा ऑपरेशन करना होगा बेटी बच सकती हैं।

लड़की का ऑपरेशन कर दिमाग से पानी निकाल दिया गया। बेटी अपने घर आ गई परंतु चंद दिनों के बाद ही वह फ़िर अपना मानसिक संतुलन खोने लगी औऱ स्थिति एकदम दयनीय हो गई। मौजूदा हालत यह हैं कि बच्ची ना ही किसी को पहचान पा रही हैं औऱ ना हीं खुद के शरीर पर उसका नियंत्रण रह गया हैं। दिमाग औऱ शरीर से लाचार हो चुकी लड़की की हालत देख माँ बाप के आँसू थमने का नाम नहीँ लें रहे।

जी हाँ आपको बता दें कि, यह व्यथा शीतला चौकीया धाम निवासी राम अजोर माली पुत्र स्व. मोहन लाल माली की हैं। इलाज करवाते-करवाते रामअजोर आर्थिक रूप से टूट चुका हैं। रामअजोर की व्यथा भी किसी फिल्म की कहानी से अलग नही हैं। उसने बताया की आज से लगभग चौदह साल पहले शीतला माता मंदिर के द्वार पर किसी ने इस बच्ची को पैदा होते ही लाकर छोड़ दिया था।

भोर में बच्ची के रोने की आवाज़ सुनकर लोग जुटे तो पुलिस प्रशासन को मामले की जानकारी देकर रामअजोर के परिवार ने बच्ची के पालन पोषण की जिम्मेदारी लें ली। सब कुछ समान्य चलता रहा, बच्ची का नाम पूजा रखा गया। थोड़ी बड़ी होने पर अचानक पूजा अपना मानसिक खोने लगी। माला फूल बेचकर अपनी जीविका चलाने वाला रामअजोर बच्ची के इलाज के लिये डाक्टरों को दिखाया। उन्होंने बताया कि, शुरू में डाक्टरो को भी कुछ समझ नही आया। इलाज कराते कराते स्थित्ति यहाँ तक पहुँच गई।

एक लाचार बाप की हालत देख बेटी बचाने की मुहिम में लोग आगे आ रहे हैं । रामअजोर माली , बसंत माली, जय नारायण माली, अमीत माली, विपिन माली, राजकुमार माली, संजय माली, कन्हैयालाल यादव, आदि ने प्रधानमंत्री राहत कोष से मदद दिलाने की प्रशासन से अपील की हैं।
रिपोर्ट-डॉ.अमित कुमार पाण्डेय
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here