वन विभाग को मिली बड़ी कामयाबी, तीन पशु खाल तस्कर हुए गिरफ्तार

0
199

छत्तीसगढ़(राज्य ब्यूरो)- अंबागढ़ चौकी- वन परिक्षेत्र अम्बागढ़ चौकी के जंगल से तेंदुए का शिकार कर  खाल को बेचने के फिराक में परलकोट में आया  रेतेगाँव निवासी रजनु राम( 25 )पिता भानु राम को वनविभाग की संयुक्त टीम ने दबिश देते हुए पकड़ा । आरोपी अम्बागढ़ चौकी के रेतेगांव से अपने सगे परिचित कापसी कोयगांव निवासी हुडीला (22) के घर आया हुआ था तेंदुए के खाल को बेचने ग्राहक खोजने की जवाबदारी हुडीला के साथ पिव्ही 6 कमलपुर निवासी ठाकुर पद (55) पिता कालीपद ने लिया| आपको बता दें कि तीनो आरोपी तेंदुए की खाल को बेचने के फिराक में थे उसी वक्त वन विभाग की संयुक्त टीम वन अमला कापसी व अम्बागढ़ चौकी ने सूचना के आधार पर छापेमारी की और तीनो पर वन अधिनियम के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। मौके पर से बरामद खाल को विभाग ने अपने कब्जे में ले लिया आरोपियों पर वन्य प्राणी हत्या का प्रकरण दर्ज कर न्यायलय में पेशकर आगे की कार्यवाही की जायेगी  ।

डिप्टी रेंजर वन परिक्षेत्र कापसी गोवर्धन जैन- तस्कर तेंदुए के खाल को ऊंची कीमत में बेचने के फिराक में थे, लेेकिन वन विभाग ने मुस्तैदी दिखाते हुए ग्राहक बनकर इन्हें पकड़ा अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इस खाल की कीमत करीब 2 लाख रुपए आंकी गई है।

संदीप सिंह रेंजर अम्बागढ़ चौकी-
आरोपी अवैध शिकार करते हुए तेंदुए के खाल को उतारकर बेचने कापसी के कोयगांव आया हुआ था । मुखबिर की सुचना पर  वनविभाग की संयुक्त टीम ने तेंदुए की खाल के साथ तस्करों को पकड़ा जो वनविभाग के लिए बड़ी कामयाबी है ।

रेंजर कापसी दिनेश तिवारी-  हो सकता है बड़ा खुलासा , वन विभाग के आधिकारिक रूप से पुष्टि की है कि अवैध रूप से शिकार कर खाल बेचने व खरीदने में परलकोट क्षेत्र के कई नासमचीन हस्ती का नाम सामने आ सकता है|

रिपोर्ट- हरदीप छाबड़ा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here