धरती पुत्र के किले को भेदेगा उनका पाल्य

0
183

मैनपुरी। अब गढ़ बचाने और कब्जाने की जंग छिड़ गई है। मुलायम सिंह यादव के गढ़ मैनपुरी में होने वाली इस जंग में असली परीक्षा उनके बेटे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की होगी। 2012 में सपा की सरकार बनाने में सबसे अहम भूमिका यहां की रही थी। मैनपुरी की चारों सीटों पर सपा ने परचम लहराया था। पर यहां भी चुनौतियां कम नही हैं। कहीं भितरघात और कही विकास न होने को लेकर नाराजगी है। जातीय आंकड़ों के मकड़जाल में उलझने से इस गढ़ में आसान नही है इतिहास दोहराना।

राजनीति के जानकारों की मानें तो तीसरे चरण में मैनपुरी में वोट पड़ेंगे। पर परिवार के झगड़े का असर पड़ेगा। वैसे तो मैनपुरी सदर और करहल सीट को यादव बाहुल्य माना जाता है। मगर शिवपाल गुट के नाराज लोग इस बार खेल बिगाड़ सकते है। कुछ नेता तो खुलकर मैदान में आ भी गए हैं और बसपा का चुनाव प्रचार भी करने लगे हैं। सपा के अंतर विरोधों के चलते अपने दलों के लिए बेहतर चुनावी संभावनाओं को देखते हुए बसपा और भाजपा ने भी पूरी ताकत झोंकने के प्रयास तेज कर दिए हैं। हालांकि बसपा इस सपा के गढ़ में अभी भी खाता भी नहीं खोल पाई है लेकिन वह दूसरे पायदान पर ही काबिज रह पाई है। इस जनपद में अभी तक किसी भी दल ने अल्पसंख्यक समुदाय के उम्मीदवार को प्रत्याशी नहीं बनाया है जबकि अल्पसंख्यक मतदाताओं का भी अपना वजूद है। इस बार के चुनाव में इस वोट बैंक की अहम भूमिका भी रहेगी। इस वर्ग के मतदाताओं का रूझान जिसकी तरफ होगा वही बाजी मार ले जाएगा। अब बात करते हैं ग्रामीण इलाकों की। मौसम चुनाव का है। फसल वोटों की कटनी है। सियासी दल किसानों को लेकर बड़े बड़े दावे कर रहे हैं ऐसे दावे जो चुनाव दर चुनाव किए जाते हैं पर नतीजा आने के बाद किसान सहूलियत और वादों के पूरा होने की राह ही ताकता रह जाता है। चुनाव के बाद पार्टियों को न तो किसानों के साथ सरोकार रह जाता है न बडे बडे दावों और न वादों से। बदहाल ऐसी कि किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो जाता है। मौजूदा माहौल पर जन कवि अदम गौडवी की यह लाइनें बड़ी सटीक बैठती है तुम्हारी फाइलों में गांव का मौसम गुलाबी है, मगर ये आकड़े झूठे हैं ये दावा किताबी है। कुछ भी हो सपा मुखिया, सपा संरक्षक मुलायम सिंह की कर्मभूमि में चुनाव पूरे शबाब पर है। इस बार त्रिकोणीय मुकाबला होने की पूरी उम्मीद है।
रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here