जर्जर छत के नीचे बैठ पढ़ने को विवश देश के भविष्य

0
225

kharbila primiry school jharkhand

जरमुंडी- दुमका जिला के जरमुंडी प्रखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत खर बिल्ला के प्राथमिक विद्यालय भवन की छत जर्जर रहने के कारण भय के माहौल में विद्यालय के बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

आपको बता दें कि, इस बाबत विद्यालय के सचिव प्रमोद कुमार का कहना है कि विद्यालय में 83 बच्चे नामांकित है और पूर्व सचिव लक्ष्मण रजक द्वारा भवन निर्माण एवं पाकशाला निर्माण का कार्य लिया गया था परंतु पूर्व सचिव के सेवानिवृत्त होने के कारण निर्माणाधीन भवन अधूरा रह गया।

उन्होंने बताया कि पूर्व में निर्मित दो कमरों के जर्जर भवन में ही बच्चों को बिठा कर पढ़ाई-लिखाई कराई जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि भवन की छत जर्जर तो है परंतु क्या करें भय के माहौल में ही बैठकर शिक्षण कार्य करना पड़ता है। ऐसे में कोई अनहोनी ना हो जाए इसकी चिंता हमेशा लगी रहती है। यहां बताते चलें कि जरमुणडी प्रखंड में ऐसे कई सेवानिवृत्त शिक्षक हैं जो अपने कार्यकाल में विद्यालय भवन निर्माण का कार्य तो लिए जरूर लेकिन अधूरा छोड़कर सेवानिवृत्त हो गए हैं।

अब ऐसी स्थिति में विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों की जान पर आ पड़ती है। गलती किसी और की और गलती की सजा पाने के लिए वर्तमान में कार्यरत शिक्षक वहां मौजूद रहते हैं लेकिन वह करें भी तो क्या करें उन्हें आखिर पढ़ाना तो है।
रिपोर्ट- धनंजय कुमार सिंह
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here