चुनाव से पहले सख्त हुआ प्रशासन, गुंडें व असामाजिक तत्व होंगे तड़ीपार

0
133

WhatsApp Image 2017-01-23 at 1.23.14 PM
वाराणसी : यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में मद्देनजर आदर्श आचार संहिता जारी हो चुकी है और इसे बनाये रखने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह गंभीर है। यूपी विधानसभा चुनाव के तहत वाराणसी जिले में आठ मार्च को मतदान होना है, जिसे निष्पक्ष, शांतिपूर्ण व भयमुक्त कराने के लिए प्रशासन कटीबद्ध है। कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने शांतिपूर्ण चुनाव के लिए उपजिलाधिकारी व रिटर्निंग अधिकारियों को गुण्डों एवं असामाजिक तत्वों के खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया।

कमिश्नर ने पिछले चुनावों के दौरान शांति भंग करने वाले चिन्हिंत असामाजिक तत्वो, दबंगो एवं गुण्डो का तड़ीपार करते हुए जिले से बाहर किये जाने का भी निर्देश दिया। साथ ही काफिले के रूप में वाहनों के संचालन पर रोक लगाते हुए ऐसे वाहनों को सीज करने का आदेश दिया। कमिश्रर ने कहा कि हर हाल में आदर्श आचार संहिता का पालन होना चाहिए। साथ ही जिले की सीमाओं एवं शहर के निकासी वाले चेकपोस्टों पर सीसीटीवी कैमरा लगाकर आने-जाने वालो की निगहबानी किये जाने के लिए पुलिस क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिये। 
कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण कलेक्ट्रेट के जिला रायफल क्लब सभागार में वाराणसी जनपद के चुनाव तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहां कि चूकि जनपद में अन्तिम चरण में मतदान है और राजनैतिक दलो के स्टार प्रचारको का जमावड़ा हो सकता है। ऐसी स्थिति में जिले की संवेदनशीलता बढऩा स्वाभाविक है। इसलिये निरोधात्मक कार्रवाई को कोई कोर कसर न छोड़ा जाय और असामाजिक तत्वों को मात्र 107/16 की नोटिस जारी कर उपजिलाधिकारी अपने कर्तव्य को पूरा न समझें, बल्कि पाबंन्दी की कार्रवाई पूरी करें। इसके बाद भी शांति भंग करने पर संबंधित दबंगो की कूर्की करायें। उन्होंने जेलों पर सतर्क निगरानी रखने के लिए जेल अधीक्षक को सख्त हिदायत दी कि जेल से चुनाव का संचालन मोबाइल अथवा मुलाकातियों के माध्यम से नहीं होना चाहिये। जेलों में आने वाले मुलाकातियों पर पैनी नजर रखी जाय और उनका वीडियो रिकार्डिंग अवश्य किया जाय।

कमिश्रर ने जेलों में मुलाकातियों के होने वाले वीडियो रिकार्डिंग का सप्ताह में दो दिन अवलोकन करने के लिए मजिस्ट्रेट व पुलिस क्षेत्राधिकारी को नामित करने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि बार-बार मुलाकाती के रूप में जाने वाले संदिग्धों की पहचान कर कार्रवाई की जाय। उन्होंने जिलाधिकारी वाराणसी योगेश्वर राम मिश्र को जेल का औचक निरीक्षण करने का निर्देश दिया। कमिश्नर ने मतदान प्रतिशत को हर हाल में बढ़ाये जाने पर जोर देते हुए मतदाता जागरूकता कार्यक्रम को और प्रभावी तरीके से क्रियान्यवित कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि मतदान के इस महापर्व पर प्रत्येक मतदाता अपने मताधिकारका प्रयोग करे। इसके लिये मतदाताओं को प्रेरित किया जाय। डीआईजी विजय भूषण ने भयमुक्त मतदान सम्पन्न कराने के लिए अराजक तत्वों के। विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई में और तेजी लाने का निर्देश दिया। 

रिपोर्ट-दीपनारायण यादव/दयानन्द तिवारी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY