गरीबो व न्याय के पुजारी है स्वामी प्रसाद मौर्य : कुलदीप पाल

रायबरेली (ब्यूरो)- ऊंचाहार अपटाकाण्ड को लेकर क्षेत्रीय नेताओं द्वारा की जा रही कुटिनीति के सन्दर्भ में युवा समाजसेवी/पूर्व जिला महासचिव कुलदीप पाल के नेतृत्व में कमला वाचनालय में बैठक का आयोजन किया गया। कुलदीप पाल ने कहा कि विधान सभा के अपटाकाण्ड को लेकर क्षेत्रीय नेताओे ने अपनी कूटनीति राजनैतिक द्वेष भावना से भाजपा सरकार के कैबिनेट मंत्री की संलिप्तता पर बेतुकी बयानबाजी कर मंत्री के साथ ही सरकार को बदनाम करने के दुस्साहस के साथ घटना को जातीय समीकरण मामले से जोड़कर एक सभ्य समाज को पथ भ्रमित करने को कार्य किया है |

स्वामी प्रसाद मौर्या ने किसी जाति विशेष को अपराध की श्रेणी में शामिल नही किया | संविधान के अनुरूप अपराधियो/दोषियों को सजा व निर्दोष को न्याय दिलाने की बात कही साथ ही मौर्य के जीवन पर प्रकाश डालते हुये कहा स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने व्यक्तिगत व राजनैतिक जीवन काल में कभी भी किसी समाज के प्रति द्वेष भावना से कार्य नही किया।

उनका सम्पूर्ण जीवन सर्व समाज की रक्षा, विकास/उत्थान व समान हेतु संघर्सित रहा है और रहेगा वह सर्व समाज के लोगों को अपनें घर परिवार की भांति मानते व उनके लिये यथा सम्भव मदद करने का कार्य करते है। परन्तु क्षेत्रीय नेताओं द्वारा उक्त काण्ड में की जा रही कूटनीति के सन्दर्भ में घोर निन्दा करते व्यक्त करते हुये कहा कि जनता अपने प्रतिनिधि को क्षेत्र के विकास उत्थान व आपसी सौहार्द्य प्रदान हेतु चुनती है |

परन्तु इनका ध्येय न ही क्षेत्र के विकास पर है और न ही अपने कार्यकाल में वह क्षेत्र की सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम है। दे का प्रत्येक युवा अपने क्षेत्र, दे समाज व अपने माता-पिता का नाम रौन कर अपने जीवन को सफल बनाना चाहता है परन्तु कुछ नेता युवाओं को बहला फुसलाकर/लालच देकर युवाओं को हिंसा के मार्ग प्रससत कर उनके जीवन को गर्त में ले जाने का कार्य कर रहे जिसके फलस्वरूप आज युवा अपने उद्देय से पथ भ्रमिता हो रहें है के क्रम में गर गैर जनपद के युवाओं को क्षेत्रीय संरक्षण न दिया जाता तो शायद ही इन युवाओं द्वारा प्रधान के घर पर अपराध की दृष्टि से जाने का दुस्साहस हो पाता और न ही उक्त घटना घटित होती।

अन्त में श्री कुलदीप ने क्षेत्र में व्याप्त भय व अत्याचार एवं स्वामी प्रसाद मौर्य पर दिये जा रहे बेतुके बयानों व सरकार को बदनाम करने के दुस्साहस की घोर निन्दा करने के साथ गरीबों एवं जरूरतमंदों के माहा स्वामी प्रसाद मौर्य के सम्मान में एकजुट होकर आनदोलन करने की चेतावनी के साथ सरकार से उक्त काण्ड की सीबीआइ जांचोपरान्त काण्ड में लिप्त दोषियों पर संविधान के अनुरूप कार्यवाही व निर्दोों को न्याय दिलाने की बात कही। साथ ही पूर्व विधायक अखिले सिंह द्वारा उक्त काण्ड में निर्दोषों को न्याय दिलाने की मुहिम में दिये जा रहे सहयोग को सराहा व उनके स्वस्थ्य जीवन के साथ दीर्घ आयु की कामना की एवं स्वामी प्रसाद मौर्य जिन्दा बाद, हमारा नेता कैसा हो स्वामी प्रसाद जैसा हो आदि के नारे लगायें। उक्त बैठक में राधेयाम पाल पंचायत, राम चन्दर क्षेत्र पंचायत, िवबालकपाल प्रधान, सन्दीप पाल, दिलीप पाल प्रधान, गोविन्द पाल युवा समाजसेवी, वीरेन्द्र पाल, हरी प्रसाद मौर्य, देवतादन पाल, राजे मौर्य, भोला पाल, रामबहादुर मौर्य, मिश्री लाल, छेद लाल पाल, पृथ्वी पाल, राजे पाल, करूणे पाल, राके पाल, पनव पाल, आदि सहित लोग उपस्थित रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY