रायबरेली का गौरव बढ़ा रहे कलाकार “गौरव कुमार”

0
578


रायबरेली (ब्यूरो) हमारे भारत देश में कलाकारों की कमी नहीं है, परंतु जहां तक यूपी की बात की जाए तो यहां पर कला के प्रति रुचि रखने वालों की संख्या बहुत ही ज्यादा है | वह चाहे सुर संगीत की कला हो या अभिनय की हर तरह से कलाकारों ने पूरे उत्तर प्रदेश का नाम गर्व से ऊंचा किया है | जिसका सबसे बड़ा उदाहरण यूपी के ही इलाहाबाद से सुपरस्टार महानायक श्री अमिताभ बच्चन जी स्वयं है, अब इससे बड़ा उदाहरण और क्या हो सकता है ! शाहजहांपुर के राजपाल यादव जो एक साधारण परिवार से निकलकर सामने आए और अपने अभिनय का लोहा मनवाया, यहीं नहीं ना जाने कितने ही कलाकार यूपी से आए और अपनी कला के माध्यम से अपना मुकाम हासिल किया और उत्तर प्रदेश का ही नहीं बल्कि पूरे भारतवर्ष का नाम गर्व से ऊंचा कर दिया |

इसी कड़ी में हमारे उत्तर प्रदेश के उभरते युवा कलाकार गौरव कुमार हैं | जो धीरे-धीरे अपने पांव अभिनय की दुनिया में जमा रहे हैं | अखण्ड भारत न्यूज़ के मीडिया रिलेशन अनुज मौर्य से गौरव ने खास बातचीत की

प्रश्न – आप कहां के रहने वाले हैं
उत्तर -मैं उत्तर प्रदेश के रायबरेली जनपद का रहने वाला हूं मेरा घर रायबरेली शहर में है

प्रश्न -फिल्म जगत में आने का कारण
उत्तर – बचपन से ही कुछ अलग करने का शौक था, साथ ही मुझे हमेशा पुलिस डॉक्टर वकील हीरो यह सभी पसंद थे, वास्तविकता में तो यह सब बन पाना तो संभव नहीं था, इसलिए अपने करियर के लिए अभिनय का दामन थामा क्योंकि एक्टिंग से ही इन सभी किरदारों को मैं जी सकता था और उस किरदार को अभिनय के माध्यम से महसूस कर सकता था |

प्रश्न – अपने कब शुरुआत की एवं आपके प्रेरणा स्रोत कौन हैं ?
उत्तर – उत्तर प्रदेश रायबरेली शहर 2009 में इप्टा संस्था के नाटक में सबसे पहले काम करने का मौका मिला | नाटक का नाम नागमंडल था उसमें मैं अपनी अंतिमा के एक आज्ञाकारी बेटे पन्ना का किरदार निभाया | इस नाटक में मेरे अभिनय को काफी सराहा गया वहीं से मुझे आगे बढ़ने का हौसला मिला, मेरे प्रेरणा स्रोत स्वर्गीय अमरीश पुरी जी हैं, इसका फैसला मैंने रायबरेली में ही कर लिया | मेरे घर में किसी को पसंद नहीं था कि मैं फिल्मी दुनिया में काम करूं इसलिए घर से भागकर 2011 में परिवार के विरोध के बावजूद मैं हिमाचल प्रदेश चला गया और अभिनय सीखने लगा | हिमांचल पहुंचकर फोन करके बताया कि मै हिमांचल आ गया हूं, मेरा करियर अभिनय ही होगा |

प्रश्न– अब आप फिल्मों में भी काम कर रहे हैं तो आप की आने वाली फिल्में ?
उत्तर – यारी मेरी रब से जिसमें मैं वसूली भाई का नेगेटिव किरदार कर रहा हूं, इश्क की गलियों में नेगेटिव किरदार | प्रणाम फिल्म में नेगेटिव रोल और इटावा सफारी जो बनकर तैयार है उसमें मैं अकरम जहरखुरान नेगेटिव रोल | वर्ष की फिल्म में आनंद के रोल में आपको दिखने वाला हूं | फिल्म में अनुपम श्याम सज्जन सिंह के बेटे का किरदार निभा रहा हूं इस फिल्म में मैं विलेन के रूप में काम कर रहा हूं |

गौरव के पिता जी LIC में काम करते हैं, शुरुवात में उन्होंने इससे नाराज़गी जाहिर की पर बाद में वे मान गए| चलते-चलते गौरव ने बताया कि वे रायबरेली में उभरते कलाकारों के लिए फ़िल्म सेन्टर बनवाएंगे ताकि उन्हें कहीं और न जाना पड़े, जल्द ही रायबरेली में वे इटावा सफारी का प्रोमो का प्रोग्राम भी करने जा रहे हैं| साथ ही गौरव ने अखण्ड भारत न्यूज़ को उनका कवरेज करने के लिए धन्यवाद दिया |

रिपोर्ट – अनुज मौर्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here