जाते-जाते पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने पांच पुलिस कर्मियों को किया निलंबित

0
47

रायबरेली (ब्यूरो) ऊंचाहार क्षेत्र के अपटा गाँव मे 26 जून को हुए नरसंहार मे लापरवाही बरतने के आरोप मे जाते-जाते पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने पाँच पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है।

अपटा गाँव मे घटना के तुरंत बाद से ही पुलिस का रवैया संदिग्ध रहा है। पाँच लोगो के नरसंहार को पहले पुलिस ने दुर्घटना बताया था। फिर कांग्रेस के राज्य सभा सदस्य प्रमोद तिवारी के दखल के बाद इसको समूहिक हत्याकांड मानकर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस के उच्चाधिकारियों को बराबर गुमराह किया जाता रहा। जब प्रिंट मीडिया ने इस नृशंस हत्या कांड की परते उखाड़नी शुरू की तब कहीं जाकर पुलिसिया संचेतना जगी और संबंधित कार्यवाही प्रारम्भ हुई। जिसमे पहले पुलिस अधीक्षक ने एंटीपीसी चैकी इंचार्ज संजय यादव को लाइन हाजिर किया। फिर मंगलवार की शाम ऊंचाहार कोतवाली प्रभारी सुरखाब खान, चैकी इंचार्ज रहे संजय यादव, अपटा गाँव बीट के सिपाही राजा विक्रम, उमेश द्विवेदी और शेषधर शुक्ल को निलंबित कर दिया गया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY