धोनी के समर्थन में उतरा यह दिग्गज खिलाड़ी, आलोचकों की जमकर लगा दी क्लास

0
33

नई दिल्ली- राजकोट में टीम इंडिया न्यूजीलैंड के विरुद्ध हुआ टी-20 मुकाबला हार गयी और इसका जिम्मेदार बहुत सारे लोगों ने भारतीय क्रिकेट के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को मान लिया है | तभी से बहुत सारे क्रिकेटर और आम जनता से भी बहुत सारे क्रिकेटप्रेमी एमएस धोनी की जमकर आलोचना कर रहे है |

एमएस की आलोचना करने वालों की बात करें तो इसमें पूर्व दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्षमण, पूर्व दिग्गज कप्तान सौरव गांगुली, आकाश चोपड़ा, माध्यम गति के पूर्व गेंदबाज अजित अगरकर शामिल है | इन सभी का कहना है कि धोनी को अब टी-20 से खुद को अलग कर लेना चाहिए और उनकी जगह पर यहाँ किसी युवा खिलाड़ी को मौका दिया जाना चाहिए | गौरतलब है कि एमएस धोनी ने राजकोट में हुए इस टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में 36 गेंदों में 49 रन ही बनाये थे जबकि पूर्व दिग्गजों का मानना है कि यहाँ पर और भी बेहतर खेल का प्रदर्शन किया जा सकता था | भारत की इस हार के लिए यह दिग्गज खिलाड़ी धोनी को ही जिम्मेदार ठहरा रहे है |

धोनी के समर्थन में भी उतरे दिग्गज-
जहाँ एक तरफ धोनी के आलोचकों की संख्या में इजाफा हो रहा है वही दूसरी तरफ धोनी के समर्थन में भी एक से बढ़कर एक दिग्गज खिलाडी मैदान में आ रहे है | इसीक्रम में धोनी के समर्थन में उतरे पूर्व दिग्गज विकेट कीपर और बल्लेबाज सैय्यद किरमानी ने तो अजित अगरकर की जमकर क्लास लगा दी थी | उन्होंने तो यहाँ तक कह दिया था कि धोनी के सामने अगरकर की हैसियत ही क्या है |

धोनी के समर्थन में उतरे गौतम गंभीर –
धोनी के समर्थन में आपको बता दें कि अब एक और दिग्गज खिलाड़ी पूरी तरह से मैदान में आ चुका है | इस दिग्गज खिलाड़ी का नाम गौतम गंभीर है | सबसे बड़ी बात यह है कि जब से गौतम अंतर्राष्ट्रीय टीम से बाहर हुए थे तभी से ऐसा कहा जा रहा था कि धोनी और गंभीर के बीच कुछ ठीक नहीं चल रहा है | कई मौके पर ऐसा भी देखा गया है जहाँ पर गंभीर ने धोनी की आलोचना भी की है |

लेकिन आज बेहद अप्रत्याशित ढंग से गंभीर ने सामने आकर धोनी का समर्थन जिस तरह से किया है उससे एक बात तो साबित हो जाती है कि धोनी न केवल महान बल्लेबाज और विकेटकीपर ही है अपितु वह एक अच्छे इन्शान भी है |

गंभीर ने धोनी के आलोचकों को सबक सिखाते हुए कहा है कि, ‘धोनी ने भारतीय क्रिकेट के लिए जो किया है वह किसी से छुपा नहीं है | धोनी ने जो उपलब्धियां हासिल की है वो बाकी क्रिकेटर्स को नसीब भी नहीं होती है | इसीलिए धोनी की आलोचना करने वालों को पहले यह सोचना चाहिए कि वह क्या बोल रहे है और किसके बारे में बोल रहे है |

उन्होंने आगे कहा कि जब धोनी बहुत अच्छा कुछ करते है तब उनकी तारीफ़ करने के लिए कोई सामने नहीं आता है | लेकिन जब कभी कुछ गड़बड़ हो जाय तो हर कोई उनके बारे में बुरा बोलने के लिए आ ही जाता है | गंभीर ने कहा कि एक टीम की हार का पूरी तरह से जिम्मेदार किसी एक खिलाड़ी को नहीं ठहराया जा सकता है क्योंकि इस टीम में धोनी के अलावा भी कई अन्य खिलाड़ी खेल रहे होते है | हार जीत क्रिकेट का नियम है और यही खेल है |

गंभीर ने आगे कहा कि उन्होंने सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, सहवाग और धोनी के मार्गदर्शन में खेला है, लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा मजा धोनी की कप्तानी में ही आया| उन्होंने बताया कि हम दोनों एक ही उम्र के आस-पास हैं, इसलिए हम खेल का खूब आनंद लेते थे और खूब मजे करते थे | गंभीर ने कहा कि धोनी हमेशा से ही चीजों को सामान्य रखने की कोशिश करते थे | वो कभी किसी भी चीज पर ज्यादा रियेक्ट नहीं करते हैं| धोनी की यही खूबी उन्हें महान बनाती है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here