गाजीपुर पुलिस ने पकड़ी अवैध शराब की फैक्ट्री, ब्रांडेड कंपनियों का रैपर लगाकर सप्लाई करते थे शराब

0
40

गाजीपुर (ब्यूरो) पुलिस को मिली बहुत बड़ी सफलता यह एक ऐसा गैंग था जो फतेहउल्लाहपुर में फैक्ट्री स्थापित कर देशी शराब बनाता। फिर शीशी पर एक प्रचलित कंपनी का लेबल चस्पा कर बिहार पहुंचा देता लेकिन आखिर में इस गैंग का भंडा फूट गया।

सुहवल पुलिस शनिवार की रात बिहार भेजी जा रही लाखों की शराब की खेप पकड़ी। उसके बाद तो गैंग की फैक्ट्री तक पुलिस पहुंच गई। इस कार्रवाई में फैक्ट्री संचालक समेत कुल छह लोग गिरफ्तार हुए। अपर पुलिस कप्तान नगर चंद्र प्रकाश शुक्ल ने जिला पुलिस मुख्यालय में इन्हें मीडिया के सामने पेश किया। गिरफ्तार लोगों में फतेहउल्लाहपुर का रहने वाला फैक्ट्री संचालक विनोद राय उर्फ टूनटुन के अलावा अमित कुमार साहनी पटना, खानपुर, पिंटू कुमार तथा आनंद कुमार बेलहाडीह थाना तरवां आजमगढ़, विशाल चौहान रामनारा थाना दुल्लहपुर सहित पिकप चालक मनीष यादव गोपालपुर मिट्टी थाना गद्दी जौनपुर का निवासी है।

श्री शुक्ल ने बताया कि एसएचओ सुहवल यादवेंद्र पांडेय अपनी टीम के साथ मेदनीपुर तिराहे पर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। उसी बीच जिला मुख्यालय की ओर से पिकप आती दिखी। उसे रोकने की कोशिश हुई लेकिन चालक पुलिस बैरियर को तोड़ते हुए आगे निकला। बावजूद उसे सती अनसुइया स्कूल तिराहे पर पकड़ा गया। पिकप पर 118 पेटियों में कुल 5310 शीशी शराब पैक थी। उन पर ब्ल्यू लाइम कंपनी का लेबल चस्पा था। पूछताछ में उसने कबूला कि वह शराब की यह खेप लेकर बिहार जा रहा था। उसकी निशानदेही पर पुलिस टीम फतेहउल्लाहपुर में टुनटुन के मकान में चल रही फैक्ट्री में पहुंची। वहां अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तार के साथ एक ड्रम बनी शराब, रैपर, स्टीकर, आरेंज स्वीट, होलोग्राम, बाल्टी, खाली. . शीशियां, 20 लीटर मेथिल अल्कोहल और शराब बनाने के अन्य उपकरण मिले। अपर पुलिस कप्तान ने बताया कि गैंग की ओर से बिहार के लिए शराब की यह चौथी खेप जा रही थी। पुलिस के इस गुड वर्क क्षेत्र में चारों तरफ चर्चा है |

रिपोर्ट – डॉक्टर विजय प्रकाश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY