घाघरा का जल स्तर बढ़ने से कटान हुई तेज

0
168

बौंडी/बहराइच(ब्यूरो)- लगातार हो रही बारिश के साथ घाघरा का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। खतरे के निशान को छूने के लिए घाघरा बेताब दिख रही है। महज एक मीटर नीचे बह रही है। दो सेमी प्रतिघंटा की रफ्तार से घाघरा का जलस्तर बढ़ रहा है। तटवर्ती आधा दर्जन गांवों में कटान तेज हो गई है। बुधवार को 65 बीघा कृषि योग्य जमीन, दो आशियाने व कायमपुर का प्राथमिक विद्यालय घाघरा की धारा में समा गए। कटान के भय से ग्रामीण अपने घरों को उजाड़कर सुरक्षित स्थानों पर सामानों को पहुंचा रहे हैं। बाढ़ व कटान का जायजा लेने नायब तहसीलदार मौके पर पहुंच गए और लोगों से जानकारी ली।

बौंडी थाना क्षेत्र के गोलागंज, जर्मापुर, कायमपुर, पिपरिया, चिरईपुरवा व पचदेवरी गांवों को घाघरा काट रही है। घाघरा ने गोलागंज के राधेश्याम, मदनलाल, कमला प्रसाद, हेमराज, ज्वाला, लज्जावती, नन्हेलाल, धीरज, नागेश्वर, सहजराम, गंगाराम, परशुराम, सुनील, अशर्फी, पवन, हेमराज, राणा, मूले, नकछेद व प्रकाश व अन्य किसानों की 65 बीघे जमीन कटकर नदी की धारा में समाहित हो गई। गोलागंज के ही संतराम व कायमपुर के रज्जब के घर कटकर नदी में समा गए। घूरदेवी स्थित स्थल पर शाम पांच बजे तक घाघरा का जलस्तर खतरे के निशान 112.150 मीटर के सापेक्ष 111.100 मीटर पर बह रहा था। तहसील प्रशासन राहत व बचाव कार्य का ढिढोरा तो पीट रहा है, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है । कटान पीड़ितों के बसने के लिए न ही जमीन की व्यवस्था है और न ही बरसात में सिर ढकने के लिए तिरपाल।

कटान पीड़ितों को मिलेगा मुआवजा-
बुधवार को नायब तहसीलदार महसी रामचेत विश्वकर्मा कटान प्रभावित क्षेत्र गोलागंज व कायमपुर की स्थिति का जायजा लिया। कटान पीड़ितों को उन्होंने उचित मुआवजा देने का आश्वासन दिया। कटान से हुई क्षति का आकलन भी किया। उन्होंने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने के लिए लोगों को आगाह किया ।

कटान प्रभावित क्षेत्र में पहुंची फ्लड पीएसी-
जल स्तर बढ़ता देख बुधवार को फ्लड पीएसी कटान प्रभावित क्षेत्र बौंडी पहुंच गई। सीतापुर की बाढ़ राहत दल द्वितीय बटालियन पीएसी बल के प्लाटून कमांडर राजेंद्र सिंह ने बताया कि 30 जवान कटान प्रभावित क्षेत्रों के पीड़ितों के सहयोग के लिए हमेशा तैयार रहेंगे।

रिपोर्ट- राकेश मौर्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here