गाँबड़ाव के ग्रामीण क्षेत्रो मे घड़रोजो के आतंक से किसान परेशान

0
80

बड़ागांव/वाराणसी (ब्यूरो)- ग्रामीण इलाके में घड़रोजों का आतंक इस कदर बढ़ गया हैं| कि खेती करना मुश्किल हो गया हैं। खेतों में घड़रोज बैखोफ घूमकर उसे खाने के बाद रौदती हुयी आगे चलता बनती हैं। इसको रोकने के लिये कोई ठोस उपाय नही होने से किसान अपने फसलों की बर्बादी देख काफी मर्माहत व दुःखी हैं।

बड़ागाँव विकास खंड क्षेत्र के फत्तेपुर कूड़ी, चिलबिला, कनियर, विश्वनाथपुर, बलरामपुर, ईश्वर पुर, बलुआ, ईसीपुर, गजापुर, पतेर, बौलिया, कौवा डाड़े, सहित आदि गाँवो के किसानों ने बताया कि इन दिनों खेतों में ललहा रही मक्का, चरी, बाजड़ा, साग-सब्जी सहित आदि फसल को यह जंगली घड़रोज खेतों में पहुचकर फसल खाने के बाद बैखोफ दौड़कर रौंद दें रहे हैं।

क्षेत्र में घडरोजों का आतंक इस कदर बढ़ गया हैं कि उसे भगाने में भी किसान डरते हैं। शासन प्रशासन के द्वारा तमाम घोषणाओं के बाद भी अभी तक कोई ठोस पहल नही किये जाने से किसानों के हाथ आर्थिक बर्बादी ही हाथ लग रहा हैं।घड़रोज खेतों में झुण्ड के झुण्ड पहुचकर फसलों को तहस-नहस कर दें रहे हैं। इन्हें भगाने पर यह किसानों को मारने के लिये दौड़ा लेते हैं। इस वजह से किसान भयभीत होकर उनके पास नही जातें और खड़े खड़े अपनी बर्बादी का तमाशा देखते हुए खून के आंसू बहाते है।

क्षेत्र के किसानो सहित पूर्व ब्लाक प्रमुख सतेन्द्र सिंह, ग्राम प्रधान रविन्द्र यादव, राम जीत पटेल, चन्दगी यादव शयाम बहादुर सिंह, रामजियावन गुप्ता, नगिना देवी, नव किरण पटेल (मुन्ना) ने जिलाधिकारी वाराणसी का ध्यान इस जटिल समस्या की ओर आकर्षित कराते हुए इस जटिल समस्या की ओर अविलम्ब ठोस कदम उठाने की मांग की।

रिपोर्ट-घनश्याम गुप्ता⁠⁠⁠⁠

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY