डा0 किरन सौजिया सी.सै.एजू. एकेडमी की बच्ची सम्मानित

0
148

mpn.4मैनपुरी। मनुष्य की आंतरिक अभिव्यक्ति उसके काम करने की लगन उसकी भावना से ही परखी जा सकती है। उत्साहपूर्वक किया हुआ कर्म यह व्यक्त करता है कि उस व्यक्ति की अभिरुचि उसमें कितनी है। कर्म का सुख वस्तुतः उसकी लगन, भावना और निष्ठा में ही है।

उक्त अभिव्यक्ति कुरावली रोड स्थिति डा0 किरन सौजिया सी0 सै0 एजु0 एकेडमी, में विद्यालय की कक्षा तीन की छात्रा दिव्यांशी पुत्री प्रदीप चौहान सुबह मार्निंग असेंबली में च्समकहम बोलने पर प्रबंध निदेशक अशोक यादव ने बच्ची की सराहना करने के उपरांत व्यक्त किये। मौजूद विद्यालय के शिक्षक/शिक्षकाओं ने उक्त बालिका की वाकपटुता को जमकर सराहा और कहा कि बच्ची की जितनी भी तारीफ की जाय वह कम ही होगी।

उक्त छात्रा का उत्साहवर्धन करते हुए प्रबंध निदेशक ने बच्ची को पुरस्कार स्वरूप एक शील्ड प्रदान करते हुए आगे कहा कि विद्यार्थी अच्छे नंबरों से उत्तीर्ण होने का लाभ तब पाता है जब वह लगनपूर्वक, भावनापूर्वक अध्ययन कार्यों में लगा रहता है। जिस तरह स्वाध्याय की चमक यह व्यक्ति करती है कि विद्यार्थी का भविष्य उज्जवल है। परेशानियों के तूफान को उज्जवल भविष्य का प्रतीत मानकर उनसे जूझ पड़ता है। वे हर क्षेत्र में सफलता ही प्राप्त करते जाते है।
उन्होने कहा कि जीवन को कलापूर्ण ढंग से जीने का अभ्यास डाला जाए, काम चाहे जैसा हो लगन के द्वारा सफलता की संभावनाएँ बढ़ाएँ और भावनाओं के द्वारा इसमें समरसता उत्पन्न करें। बस यही सर्वोत्तम जीवन जीने का गुरुमंत्र है। इस अवसर पर विद्यालय के समस्त शिक्षक व शिक्षिकायें मौजूद रहे।
रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here