प्रेमी की कब्र पर बैठकर प्रेमिका ने खाया ज़हर

0
1484

मुज़फ्फरनगर – आपने किस्से कहानियों में अभी तक हीर-रांझा, सोनी-महिवाल, सीरी-फ़रहात आदि-आदि अनेकों कहानिया सुनी होंगी | ऐसे तमाम लोगों के बारे में किस्सों में सुना होगा जिन्होंने मोहब्बत के लिए अपनी जान दे दी होगी लेकिन जब आपने सच्चाई के धरातल पर इसको देखने का प्रयास किया होगा तो आपको भी इस सच्चाई पर शक हुआ होगा | लेकिन मुज़फ्फरनगर में हुई इस घटना ने यह साबित कर दिया है कि प्रेम में कुछ भी संभव है |

क्या है पूरा मामला-
कहानी है मुज़फ्फरनगर जिले के पूराकाजी क्षेत्र का जहां पर दो अलग-अलग धर्मों और समुदाय के मानने वाले बरखा और दानिश की प्रेम कहानी भी अधूरी रह गयी है | बरखा और दानिश का विवाह इसीलिए नहीं हो सका क्योंकि वे दोनों ही दुसरे धर्मों के मानने वाले थे | सूत्रों की मानें तो लड़की के घरवालों ने लड़की की शादी कही और तय कर दी थी जिसके चलते पहले लड़के ने ज़हर पीकर आत्महत्या कर ली लेकिन बाद में जैसे ही इस बात का पता लड़की को चला उसने अपने प्रेमी कि कब्र पर बैठकर ज़हर पीकर आत्महत्या का प्रयास किया लेकिन आस-पास के लोगों ने उसे देख लिए और बाद में गंभीर हालत में उसे अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है जहा लड़की की हालत नाजुक बनी हुई है |

बता दें कि सोमवार को दोपहर में दानिश अपने घर वालों को अपनी प्रेमिका बरखा से शादी रचाने के लिए मनाने का प्रयास कर रहा था लेकिन घर वाले लड़की के दुसरे सम्प्रदाय से होने की बात कह कर उससे झगड़ रहे थे | अंत में जब घर वालों ने स्पस्ट कर दिया कि वे उसकी शादी बरखा से नहीं करवा सकते तो उसने दोपहर तकरीबन 12.30 बजे के आस-पास ज़हर खा लिया | जैसे ही घर वालों को इस बात का पता चला उन्होंने तुरंत ही दानिश को नजदीकी अस्पताल ले गए लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी और दानिश ने दम तोड़ दिया | घर वालों ने दानिश को रात में ही बगल के कब्रिस्तान में सुपुर्दे-ख़ाक कर दिया |

लेकिन पूरे इलाके में उस समय सनसनी फ़ैल गयी जब अगले दिन तक़रीबन उसी समय गाँव वालों ने देखा की दानिश की कब्र पर एक लड़की बदहवाश अवस्था में पड़ी हुई है | गाँव वालों ने तुरंत ही पुलिस को मामले की जानकारी दी जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लड़की की हालत को देखते हुए अस्पताल में भर्ती करवाया जहां डाक्टरों ने उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया | लड़की की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है |

क्या है दानिश और बरखा की प्रेम कहानी –
दानिश और बरखा की प्रेम कहानी की शुरुआत होती है अब से तीन साल पहले जब पुरकाजी निवासी 25 वर्षीय दानिश काम के सिलसिले में हरिद्वार के ज्वालापुर क्षेत्र में काम नहीं मिलने पर जूते और चप्पलो की सेल लगाया करता था | उसी दौरान दानिश की मुलाकात ज्वालापुर निवासी शादीशुदा 24 साल की युवती बरखा से होती है | धीरे धीरे दोनों की मुलाकात मोहब्बत में बदलने लगती है। इस बीच दोनों एक दूसरे को इतना चाहने लगते हैं कि बरखा ने समाज और धर्म की परवाह ना करते हुए दानिश के साथ जीने मरने की कस्में तक खा डालीं | दोनों की बेपनाह मोहब्ब्त का अंदाजा भी इसी बात से लगाया जा सकता है कि दानिश को पाने के लिए जहां बरखा ने अपने पहले पति को छोड़ दिया तो वहीं, दानिश ने भी घर आए रिश्ते को ठुकरा दिया |

बरखा को अपने पति से एक चार साल की बेटी भी है जो बरखा के माता-पिता के पास रहती है | दानिश और बरखा के परिजनों को भी दोनों के प्रेम संबंधों की जानकारी थी लेकिन दोनों के इश्क के आगे कभी किसी ने कोई रोक-टोक नहीं लगाई लेकिन इस बीच बरखा के परिजनों ने बरखा की कहीं और दूसरी शादी करने का निर्णय ले लिया | जब ये बात दानिश को मालूम हुई तो उसने सोमवार को अपने घर आकर जहर का सेवन कर लिया |
जहर खाने के बाद दानिश ने अपनी प्रेमिका को मोबाइल पर कहा कि मैं ये दुनिया छोड़कर जा रहा हूं मैंने जहर खा लिया है | प्रेमी की बात सुन प्रेमिका बरखा भी देरी किए बिना पुरकाजी दानिश के पास पहुंच गई लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY