अपने साहस के बल पर समाज को नई दिशा दे रहे दिव्यांग : उमाशंकर सिंह

बलिया (ब्यूरो)- पूर्वांचल ग्रामीण चेतना समिति के सभागार में समिति के तत्वावधान में दिव्यांगों का 10 दिवसीय समर कैम्प का शुभारम्भ हुआ। इसमें दिव्यांगों को कंप्यूटर, मिठाई का डिब्बा, खिलौना बैग संगीत डांस आदि का प्रशिक्षण देकर रोजगारपरक बनाया जायेगा।

बतौर मुख्य अतिथि रसड़ा विधायक ने संस्था द्वारा दिव्यांगों के प्रति किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुये कहा कि दिव्यांगों को समाज के मुख्य धारा से जोड़ने में संस्था का हर सम्भव सहयोग करेंगे। दिव्यांग अपने अंदर धैर्य एवं साहस का समावेश कर कार्य करेंगे तो सफलता निश्चित ही कदम चूमेगी।

शारीरिक विकलांगता से बड़ी है मानसिक विकलांगता- आज के परिवेश में अनेक दिव्यांग अपने साहस और पराक्रम के बल पर समाज के लिये नयी दिशा प्रदान कर रहे है। विधायक ने संस्था निदेशक के साथ संस्था द्वारा चलायी जा रही योजनाओं को अवलोकन किया। इसके पूर्व विधायक उमाशंकर सिंह संस्था के निदेशक फादर ज्ञान प्रकाश, सिस्टर साधना, बिहारीलाल, दिव्यांग बच्चों के प्रतिनिधि कु. सुमन, कु. सीमा, संदीप कुमार, हरेन्द्र यादव ने द्वीप प्रज्जवलित कर समर कैम्प का शुभारम्भ किया। दिव्यांग बच्चो ने विविध प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा कर साबित कर दिया कि दिव्यांग भी किसी से कम नहीं है। दिव्यांग बच्चों ने भी अपनी समस्याओं को रखते हुये स्वचालित रिक्शा के लिए मांग पत्र सौपा। फादर ज्ञान प्रकाश ने अतिथियों समेत दिव्यांग बच्चों एवं कार्यकर्ताओं को स्वागत तथा अभिनन्दन किया। संचालन कु. रेखा ने किया। सिस्टर साधना ने सबका अभार व्यक्त किया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY