जीएम का निरीक्षण कल, रेलवे स्टेशन चकाचक

0
410

railway

लखीसराय- किऊल-गया रेलखंड के दोहरीकरण को लेकर शुक्रवार को पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर जोन के महाप्रबंधक डीके गायन किऊल रेलवे स्टेशन से गया तक रेल खंड स्थित विभिन्न स्टेशनों व रेलवे पुलों का निरीक्षण करेंगे। साथ में जोन के अलावा दानापुर मंडल के अधिकारी भी रहेंगे।

महाप्रबंधक का पूर्व में गया से किऊल तक का निरीक्षण का कार्यक्रम तय था। लेकिन बुधवार को अचानक किऊल से गया के लिए निरीक्षण करने का कार्यक्रम तय हो गया। जीएम के अचानक बदले कार्यक्रम से किऊल रेलवे के अधिकारियों के पसीने छूट गए। आनन-फानन में सैकड़ों मजदूर को रात-दिन लगाकर स्टेशन को चकाचक कराया जा रहा है।

प्लेटफार्म, रेलवे ट्रैक, शेड आदि की मरम्मत व रंगाई पुताई कराई जा रही है। बावजूद कई कार्यालय रंगाई-पुताई से वंचित रह गए। महाप्रबंधक श्री गायन तय कार्यक्रम के अनुसार शुक्रवार की सुबह 09:00 बजे पटना से किऊल पहुंचेगे। इसके बाद 09:30 बजे किऊल से गया की ओर प्रस्थान करेंगे। किऊल के बाद जीएम का पहल ठहराव करौता हॉल्ट पर होगा। दस मिनट के निरीक्षण के बाद सिरारी और उसके बाद शेखपुरा स्टेशन का निरीक्षण करेंगे। किऊल से गया के बीच जीएम 17 स्टेशन, हाल्ट व पुल का निरीक्षक करेंगे।

जीएम के टूर प्रोग्राम के अनुसार किऊल-गया रेलखंड का निरीक्षण उनकी वार्षिक कार्य योजना है। लेकिनए बताया जा रहा है कि किऊल-गया दोहरीकारण को लेकर जीएम निरीक्षण कर रहे हैं। किऊल से गया तक रेलखंड का दोहरीकरण कार्य के लिए मंत्रालय से स्वीकृति प्रदान होने के साथ निविदा की प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है। किऊल से गया तक 124.304 किमी लंबाई रेलवे लाइन का दोहरीकरण 1200.204 करोड़ रुपये से होना है। इस रेलखंड पर 31 रेलवे स्टेशन, 32 बड़ा पुल एवं 304 छोटा रेल पुल है। इस ड्रीम प्रोजेक्ट को 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
रिपोर्ट- रजनीश कुमार
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here