भगवान अपने भक्तों की हर मनोकामना पूर्ण करते हैं -त्यागी जी महराज

0
94

प्रतापगढ़ (ब्यूरो)- भगवान अपने भक्त की सभी इच्छाएं पूर्ण करते हैं। फिर चाहे भगवान को अवतार ही क्यो न लेना पड़े धरती पर। यदि भक्तों ने भगवान को सच्ची श्रद्धा और भक्ति के साथ पुकारा तो भगवान अपने भक्तों का कष्ट दूर करने के दौड़े चले आते हैं। यह बातें विकास खण्ड बाबागंज के नान्हा शुक्ल का पुरवा गांव में श्रीकांत शुक्ल के यहां आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के दौरान कथावाचक श्री राधे श्याम मिश्र ( त्यागी जी महाराज) ने कही।

उन्होंने कहा कि भगवान श्री कृष्ण ने पूतना नाम की राक्षसी को पूर्व जन्म के शापित होने के कारण राक्षस योनि में जन्म लेने बाद उसका उद्धार किया और उसके दूध को पीकर मां का स्थान दे दिया । भक्त वत्सल भगवान की महिमा को जान लेना हम अज्ञानी मनुष्यों के बस की बात नही है। जिनके अवतार और लीला को बड़े बड़े ज्ञानी, ऋषि, मुनि और महात्मा नही जान पाए उन भगवान की लीलाओं के बारे में हम मनुष्य कुछ नही जान सकतें।

आजकल के कलियुग के मनुष्य सभी छोटी छोटी बातों को लेकर भगवान को कोसता रहता है लेकिन उस अज्ञानी मनुष्य को ये नही पता होता कि उसको उसके कर्मो की ही सज़ा मिलती रहती है।उन्होंने कहा कि सांसारिक सुख अभाव के लिए मनुष्य भगवान को ही दोष देता रहता है। सुखी जीवन जीने के लिए भगवान की भक्ति सभी मनुष्य को सच्ची श्रद्धा के साथ करनी चाहिए। सत्य प्रकाश तिवारी, अनिल दुबे, राजनारायण मिश्र, राम मूर्ति शुक्ल, सर्वेश शुक्ल, वेद तिवारी इत्यादि कई लोगों ने श्रीमद्भागवत कथा का रसपान किया।

रिपोर्ट- विश्व दीपक त्रिपाठी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY