प्रशासन की अटकी सांसे, 14 किलो सोना पहनकर कांवड़ यात्रा पर निकले ‘गोल्डन बाबा’

0
124

दिल्ली/वाराणसी (ब्यूरो)- ढेर सारा सोना पहनकर कांवड़ यात्रा करने वाले गोल्डन बाबा इस बार फिर सुर्खियों में हैं | पिछली बार की तुलना में इस बार उन्होंने दो किलो सोना ज्यादा पहना है | गोल्डन बाबा उर्फ सुधीर मक्कर हर साल अपने काफिले के साथ दिल्ली से हरिद्वार करीब दो सौ किलोमीटर की कांवड़ यात्रा करते हैं |

इस दौरान गोल्डन बाबा के शरीर पर करीब 14.5 किलो सोना होता है, जिनमें 21 सोने की चेन, 21 लॉकेट, कई अंगूठियां और यहां तक की सोने की जैकेट भी होती है जिसे वो कभी-कभी पहनते हैं | गोल्डन बाबा के काफिले में एक बीएमडबल्यू के अलावा दो ऑडी कार और तीन फॉरच्यूनर कार समेत 16 गाड़ियां शामिल होती हैं|

यही नहीं गोल्डन बाबा हाथ में रोलेक्स घड़ी पहनते हैं, जिसकी कीमत 27 लाख रूपये है | गोल्डन बाबा ने कहा कि उनकी सोने की नई चेन दो किलो की है, जिसमें भगवान शिव का एक लॉकेट है | उन्होंने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान वो ज्यादा सोना नहीं पहनते क्योंकि यात्रा के दौरान आभूषण के भार से उनकी गर्दन में दर्द होने लगता है | उन्होंने ये भी कहा कि साल 2018 में उनकी आखिरी कांवड़ यात्रा होगी |

गोल्डन बाबा के पास बीएमडबल्यू कार के अलावा तीन फॉरच्यूनर कार, दो ऑडी कार और दो इनोवा कार हैं | पिछले कई मौकों पर गोल्डन बाबा कांवड़ यात्रा के लिए हमर, जगुआर और लैंड रोवर जैसी गाड़ियां भी किराए पर लेकर हरिद्वार जा चुके हैं |

कौन हैं गोल्डन बाबा ?
सुधीर मक्कर उर्फ गोल्डन बाबा दिल्ली के गांधीनगर बाजार में कपड़े और प्रॉपर्टी का काम करते हैं | उनका इंदिरापुरम और गाजियाबाद में आलिशान फ्लैट भी है | गार्मेंट्स के बिजनेस में गोल्डन बाबा पर जैसे धनवर्षा होने लगी | गोल्डन बाबा की कोई संतान नहीं है |

गोल्डन बाबा करीब 150 करोड़ के मालिक हैं और वो कांवड़ यात्रा के दौरान 18 बाउंसरों और आठ सुरक्षा अधिकारियों के साथ यात्रा करते हैं | उन्हें लोग श्री महंत जी गोल्डन पुरी बाबा के नाम से जानते हैं |

रिपोर्ट-रविंद्रनाथ सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here