थानों पर आने वाले व्यक्तियों से मृदुल व्यवहार किया जाये सुनील कुमार सक्सेना

0
104


मैनपुरी : जिलाधिकारी चन्द्र पाल सिंह, पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सक्सेना ने राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य, शिक्षा, विकास के अधिकारियो को सचेत करते हुए कहा कि मानसिकता बदले बिना किसी दबाव में आये निष्पक्ष रहकर कार्य करें ,बदली व्यवस्था में धरातल पर भी बदलाव दिखे, महिला अपराध पर लगाम कसी जाये,महिलाओं के साथ छेड़खानी करने वालो की तत्काल गिरफतारी हो, क्षेत्र में पुलिस का वकार कायम रहें, भूमाफियों पर शिकंजा कसा जाये,सार्वजनिक भूमि से प्राथमिकता पर अतिक्रमण हटाये जाये, अवैध रूप से संचालित बूचड़खाने बन्द हो, थानों पर आने वाले व्यक्तियों से मृदुल व्यवहार किया जाये,थानों,तहसीलों ,विकास खण्डों पर अवैध वसूली किसी भी दशा में न हो शिकायत मिलने पर कठोर कार्यवाही होगी,डग्गेमार वाहनों का संचालन कदापि न हो ओवर लोडिंग पर भी शिंकजा कसा जाये,टैम्पों,मैजिक में लगे स्टेण्ड तत्काल कटवाये जाये,किसी भी वाहन मे बाहर सवारी लटकी न दिखे,सरकारी डाक्टर किसी भी दशा में प्राइवेट पे्रक्टिस न करें,कोई भी चिकित्सक बाहर की दवा न लिखे,सरकारी अस्पताल के सामने प्राइवेट एम्बुलेन्स खड़ी न हो, जिन विद्यालयो में नकल हो या जिनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी गयी हो,जिनके पास पर्याप्त मात्रा में फर्नीचर,अन्य व्यवस्थायें न हो ऐसे परीक्षा केन्द्रों को तत्काल डिबार किया जाये।

अधिकारी द्वय ने देर रात्रि तक पुलिस लाईन में अधिकारियों ,थानाध्यक्षों ,चैकी प्रभारियों की क्लास ली। उन्होने साफ तौर पर कहा कि वर्तमान सरकार के संकल्प पत्र का प्रभाव क्षेत्र में तेजी से दिखे, संकल्प पत्र को लागू करने में हीला-हवाली ,शिथिलता बरतने वाले खामियाजा भुगतेगें। उन्होने मुख्य विकास अधिकारी से विकास विभाग,मुख्य चिकित्साधिकारी से स्वास्थ्य विभाग, उप जिलाधिकारियो से राजस्व की एकरूपता की कार्य योजना तैयार कर प्रस्तुत करें, थानेदार से लेकर सिपाही तक ,तहसीलदार से लेकर लेखपाल तक,खण्ड विकास अधिकारी से लेकर ग्राम विकास अधिकारी तक,सरकारी तंत्र से जुड़े प्रत्येक अधिकारी,कर्मचारी की कार्य प्रणाली में बदलाव दिखे। निरीक्षण कर औपचारिकता न निभायें बल्कि निरीक्षण का असर धरातल पर दिखे।

जिलाधिकारी,पुलिस अधीक्षक ने कहा कि शान्ति व्यवस्था कायम कराने, महिलाओ के अपराध में नियंत्रण,गभ्भीर अपराध में नियंत्रण और जनमानस में सुरक्षा की भावना का विकास करने,माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा को नकल विहीन एवं शुचितपूर्ण हेतु नकल माफियों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाये। उन्होने उप जिलाधिकारियो, क्षेत्राधिकारियो को निर्देशित किया कि सार्वजनिक उपयोग की भूमि यथा तालाब, चरागाह,खलिहाल, चकरोड,रास्ता, कब्रिस्तान, शमशान आदि से 03 दिन में अभियान चलाकर अतिक्रमण हटाया जाये। सचिव ग्राम पंचायत अधिकारी,लेखपालो को जिम्मेदार बनाया जाये तथा थाना, विकास खण्ड,तहसील स्तर पर शीघ्र एवं ईमानदारी से कार्यवाही की जाये, थानों में एफआईआर दर्ज हों,भू-माफिया,नकल-माफिया एवं दबंगो के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाये,गोरक्षा एवं अवैध पशु बधशालाओं को बन्द कराया जाये, जनता की समस्याओं का समयबद्ध निस्तारण किया जाये, जनसामान्य से मिलना एवं उनके दूरभाष को सुनकर और उनकी समस्याओं का निस्तारण किया जाये जिससे जनमानस को सरकार की स्वच्छ छवि एवं पारदशर््िाता कार्य प्रणाली ,परिवर्तन का एहसास हो।

उन्होने राजस्व ,पुलिस अधिकारियो से कहा कि गैर जिम्मेदाराना बात न करें,धार्मिक स्थलों की चैकसी बढ़ायी जाये थानाध्यक्ष अपने-अपने क्षेत्र में रेलवे ट्रैक के पास वाले ग्रामों का भ्रमण करें,रेलवे ट्ेक की भी निगरानी करायी जाये,एक्सपे्रसवे पर पट्रोलिंग बढ़ायी जाये। कार्याे, विचारो से जो लोग अपराधी हो उन्हें चिन्हित कर कार्यवाही की जाये बिना नम्बर वाले वाहनो का संचालन किसी भी दशा मे न हो यदि कोई एजेन्सी वाला बिना नम्बर के गाड़ी बेचें तो उसके विरूद्ध भी कार्यवाही की जाये। मोटर हवीकल अधिनियम के तहत बिना नम्बर का वाहन एजेन्सी द्वारा बेंचा नहीं जा सकता। उन्होने थानाध्यक्षो को निर्देशित किया कि नवरात्रि के त्योहार पर विशेष सर्तकता बरती जाये,मिश्रित आबादी का भ्रमण किया जाये, सोशल मीडिया पर विशेष ध्यान दिया जाये।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार गुप्ता, अपर पुलिस अधीक्षक शिष्य पाल,समस्त उप जिलाधिकारी,क्षेत्राधिकारी,थानाध्यक्ष,चैकी इंचार्ज, जिला विद्यालय निरीक्षक,जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, समस्त तहसीलदार आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here