इण्‍डियन पीपल्‍स फेमीन ट्रस्‍ट को बंद करने तथा इसके कार्पस की शेष निधि को प्रधानमंत्री राहत कोष में हस्‍तांतरित करने का निर्णय

0
209
pm modi file photo
pm modi file photo

कृषि, सहकारिता और किसान कल्‍याण विभाग ने अकाल के दौरान भारतीय लोगों को राहत प्रदान करने के उद्देश्‍य से वर्ष 1900ई० में जयपुर के पूर्व शासक द्वारा सृजित इण्‍डियन पीपल्‍स फेमीन ट्रस्‍ट (आईपीएनसीटी) को बंद करने का निर्णय लिया है। यह ट्रस्‍ट फिलहाल कृषि मंत्री के अध्‍यक्षता में 27 नामित सदस्‍यों और दो अधिकारियों द्वारा प्रशासित होता है। समय बीतने के साथ ट्रस्‍ट की उपयोगिता अगस्‍त 1995 में संपन्न इसकी पिछली बैठक के बाद से समाप्त होती हुई प्रतीत होती है। तब से इस ट्रस्ट ने प्राकृतिक आपदाओं के मामले में प्रधानमंत्री राहत कोष के जरिए चंदा देने के अलावा कोई महत्‍वपूर्ण कार्य नहीं किया है। अब आपदा प्रबंधन गृह मंत्रालय में राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा प्रशासित किया जा रहा है जिसके पास पर्याप्‍त बजट और अवसंरचना है। जयपुर के पूर्व शासक के प्रतिनिधि की सहमति तथा विधि और न्‍याय मंत्रालय की राय से ट्रस्‍ट को बंद करने तथा निधियों के बेहतर उपयोग हेतु केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने इसके कार्पस में 91 लाख रूपए की शेष निधि को प्रधानमंत्री राहत कोष में हस्‍तांतरित करने का निर्णय लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here