थोथा साबित हो रही सरकारी कवायदें, क्रय केंद्रों से निराश लौट रहे किसान

0
58

चिलकहर/बलिया (ब्यूरो)- लाख कवायद के बाद भी किसानो की समस्या से छुटकारा नही मिल पा रहा है न तो धान इंदरपुर क्रय केन्द्र पर मिल रहा है न ही डीएपी खाद ही समय से मुहैया हो पा रही है जबकि प्रशासन दावा कर रहा है कि कही परेशानी नही है।

सोमवार की सुबह का नजारा यह था कि ग्यारह बजे तक पीसीएस इंदरपुर पर लम्बी लाईन खाद के लिये  लगी हुयी थी पर केन्द्र प्रभारी द्वारा केन्द्र बन्द किये जाने से किसान मायुस थे वहीं सुबह से लाईन लगाकर इस आश मे किसान खड़े रह रहे है कि कब केन्द्र खुल जाय और खाद मिल जाय वहीं हैरानी की बात यह है कि रसड़ा उप जिलाधिकारी यह दावा कर रहे है धान की खरीददारी व खाद बीज का वितरण सुचारू रुप से हो रहा है सार्थक नही साबित हो रहा है।

पुर्व जिला पंचायत कालिका यादव व सुरेन्द्र सिंह तथा जयप्रकाश पाण्डेय ने कहा कि किसानो के साथ धोखा करके अधिकारी हवा हवाई घोषणा कर रहे है हालात यह है कि प्राईवेट दुकानो पर किसान मायुसी मे खाद बीज ले रहा है महंगी खाद बीज खरीदने पर मजबुर है किसान तो बिचौलियों के हाथ धान बेच रहा है पर किस नजर से प्रशासनिक अमला सब कुछ ओ के कर रहा है समझ से परे दिख रहा है हकीकत यह है कि छईपुर, इंदरपुर, संवरा, चिलकहर, हजौली, चोगड़ा, गड़वार की बाजारो पर महगें खाद बीज खरीदते किसानो को प्रतिदिन देखा जा सकता है।

मजबुर होकर किसान सरकारी गोदाम से खाली हाथ लौटकर प्राईवेट दुकानो पर खाद बीज खरीद रहा है और सब कुछ देखकर भी प्रशासनिक अमला यह कहता नजर आ रहा है कि कही कोई परेशानी नही है जबकि पूर्ववर्ती सरकारो मे सलेमपुर, इंदरपुर, रामपुर, संवरा के सरकारी क्रय केन्द्रो से पर्याप्त मात्रा मे खाद बीज किसानो को मिला करता था।

रिपोर्ट- संजय पांडेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here