सरकारी राशन की दुकानो के चयन के लिये मारा मारी मची

0
130

हसनगंज/उन्नाव (ब्यूरो)- प्रशानिक अमले की लापरवाही के चलते वर्षो से रिक्त चल रही सरकारी राशन की दुकानो के चयन के लिये मारा मारी मची हुई है। सारे नियम कानून की धज्जियाँ उडा कर ग्राम प्रधान समर्थक अपने चहेतो को दुकान दिलाने के लिये साम दाम दण्ड जैसे हथकंडे अपनाने मे हावी है, पीडितो ने बीडीओ से लेकर एस डी एम से शिकायत कर कार्यवाही की माँग की है।

तहसील की औरास बलाक के सराय बद्री मजरे दिपवल गाँव मे गुरूवार को निरधारित तिथि मे उचित दर बिक्रेता का चयन होना था। सरकारी दुकान लेने के लिये गाँव की रामरानी ने आरोप लगाया है। कोटे का आवेदन सेक्रेटरी ने पहले जमा किया, ग्रामीणो के सामने जैसे ही चयन प्रक्रिया शुरू हुई, वैसे ही आवेदन गायब होना बता दिया|

जिस पर दोनो पक्ष आपस मे भिड गये और ग्रामीणो की चुनाव कराने की आम सहमति पर राजी हो गये लेकिन ग्राम प्रधान समर्थक व सेक्रेटरी आपस मे काना फूँसी कर सेटिंग गेटिग का खेल शूरू हो गया जिसपर दूसरे आवेदक भडक गये और हंगामा काटने लगे तथा मार पीट करने पर अमादा हो गये।

जिस पर चयन प्रक्रिया का कोरम पूरा नही हो सका।ग्रामीणो ने बताया गलत चयन कराने के लिये हाथ उठाने के लिये दूसरे गाँव से बुलाया गया था। इस पर आधा सैकडा से अधिक महिला पुरूष टैकटर टा्ली से आकर एस डी एम से शिकायत कर कोटे के चयन कराने के लिये चुनाव कराने की माँग की है। यह तो महज बानगी है तहसील क्षेत्र की बीस सरकारी दुकाने अधिकारियो की लचर व्यवस्था के चलते चयन प्रक्रिया मे उलझ कर रह गयी है।

इसी तरह हसनगंज बलाक के अहमदपुर वादे की दुकान चयन मे चार माह पहले मार पीट हो जाने से आधा दर्जन लोग चुटहिल हो गये वही रफीगढी उचित दर बिक्रेता के चयन मे ग्राम प्रधान गुप चुप तरीके से अपने भतीजे को कराना चाहता है।

जिससे तीन माह से खुली बैठक मे ग्राम प्रधान के आने से बैठक का कोरम पूरा नही हो रहा है।जिससे तीन बार बैठके टल रही है।दूसरी तरफ आवेदन करने वाले ओम प्रकाश ने बताया बीडीओ से लेकर एस डी एम व डीएम तक शिकायत करने के बाद भी निषपक्ष दुकान का चयन नही हो पा रहा है।

और ग्राम प्रधान अधिकारियो से सेटिंग कर साम दाम दण्ड अपनाने को तैयार है। यही हाल 11अप्रैल को छरिहरा मे कोटे के चयन मे मारा मारी मच गयी जिससे नयी दुकान का चयन अधर मे लटक गया। एक तरफ ग्राम प्रधान अपने चहेते को कराने की होड है तो दूसरी तरफ चुनाव कराकर निषपक्ष चयन की ग्रामीण माँग कर रहे है बीबीपुर चिरियारी मे राशन की दुकान का चयन को लेकर छह म ई को हंगामा हो गया ।

जिससे बैठक का कोरम पूरा नही हो सका जिस पर 12 मई को एक बार फिर से बैठक कर कोटे का चयन होना सुनिश्चित हुआ लेकिन इस बार भी ग्राम विकास अधिकारी और प्रधान की सांठ गांठ के चलते ग्रामीणों ने विरोध किया जो की दिन भर चलता रहा आखिर में विरोध के चलते बैठक निरस्त कर अग्रिम तिथि के लिए अग्रसारित कर दी गई ।

जबकि हसनगंज की कुरौली ग्राम पंचायत मे पूर्व प्रधान रघुवीर मौर्य ने बताया की ग्राम पंचायत की खुली बैठक मे सर्व सहमति से नयी दुकान का चयन हो गया जो एक वर्ष से दूसरे गाँव की दुकान मे अटैच चल रही थी।

जबकि निवर्तमान डी एम सुरेंद्र सिंह ने सप्लाई विभाग को एक महीने मे चयन कराने का अलटीमेटम दे गये थे,सप्लाई इंस्पेक्टर भाषकर ने बताया तहसील मे बीस दुकानो का चयन होना है किस ब्लाक मे कितनी के सवाल पर चुप्पी साध गये।

बी डी ओ सपना अवस्थी से पूछने पर बताया कि विवादित दुकानो की रिपोर्ट एस डी एम को भेज दी है । और रफीगढी , छरिहरा, बीबीपुर चिरियारी, कीदुकानो के चयन की दोबारा तिथियाँ निरधारित की गयी है।

एस डी एम मनीष बंसल ने कहा है कि जहाँ पर राशन वितरण व चयन मे गडबडियो की शिकायते मिलेगी कार्यवाही की जायेगी।

रिपोर्ट-राहुल राठौर

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY