सरकार साजिश के तहत कोयला खदानों को निजी मालिकों के हाथों सौंपना चाहती है: रामेंद्र

0
64

धनबाद/झारखण्ड(ब्यूरो): सरकार साजिश के तहत सभी कोयला खदानों को बंद कर के सरकार निजी मालिकों के हाथ में सौंपने की तैयारी में हैं, जिसे किसी भी कीमत पर होने नहीं देंगे। उक्त बातें यूनाइटेड कॉल वर्कर्स यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष कॉमरेड रमेंद्र कुमार ने सिजुआ स्थित कतरास क्लब में एटक की विशाल महासभा को संबोधित करते हुए कहा। कॉमरेड रामेंद्र कुमार ने कहा कि कोल इंडिया को 62 हजार करोड रुपए की मुनाफे में से सभी पैसे को सरकार ने अपने काम के लिए इस्तेमाल किया।

शाजिश के तहत 272 कोल खदानों को बंद करने की कवायत को कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि सीएमपीएफ को ईपीएफ में विलय होने से कोल कर्मियों को सेवाकाल तक लाखों रुपए का नुकसान होगा। निजी मालिक कोयला खदान में कार्यरत कर्मी से 5 से 8 हजार देकर 10 -10 घंटे काम करा कर कोयला निकाल कर सस्ते दाम पर कोयला बेचेगी, तो कोल इंडिया का कोयला लोग नहीं खरीदेंगे, तब कोल कर्मियों को वेतन कैसे मिलेगा।

उन्होंने स्थानीय विधायक ढुलू महतो को धनबाद कोयलांचल का नया हीरो की उपाधि दी। सभा की अध्यक्षता कर रहे बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने कहा की मजदूर हित में 19, 20 व 21 जून को प्रस्तावित कोयला उद्योग की हड़ताल के दौरान बीसीसीएल के सभी 12 क्षेत्रों के सभी कोलियरियों से एक छटाक कोयला नहीं जाने देंगे। उन्होंने कहा की माफियाओ के दिन अब लद गये अगर मजदुरो का किसी ने शोषण करने के विषय मे सोचा भी तो उन्हें धनबाद छोडकर गांव जाना होगा।

उन्होंने पूंजीपतियों से कहा की आप यहां के गरीब मजदूरो को नौकरी दे और माफियाओ की चिंता छोड दे वैसे माफियाओ से हम सभी फरियाने मे सक्षम है। इस दौरान सभा मे अन्य यूनियनो को छोडकर सैकडो मजदूरो ने विधायक ढुल्लू महतो पर आस्था जताते हुए युनाईटेड कोल वर्कर का दामन थामा। सभा को अशोक यादव, हंजला बिन हक, गौरचंद बाउरी आदि ने संबोधित किया। मौके पर लक्ष्मण महतो, पप्पू सिंह, दिनेश रवानी ,मनोज चौहान, बिपिन राय, अशोक ठाकुर मौजूद थे।

रिपोर्ट- गणेश कुमार रावत 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here