सरकार की मंशा है कि घर-घर में हो शौचालय

0
35

जालौन (ब्यूरो)- सरकार की मंशा है कि घर-घर में शौचालय हो। खुले में शौच के लिए जाने से रोकने की यह निर्णायक जंग है। इसमें सभी अपनी भागीदारी निभाऐं। यह बात जिला परियोजना समन्वयक ने ब्लाॅक में एक बैठक के दौरान उपस्थित ग्राम प्रधानों के समक्ष कही। इस दौरान ब्लॉक क्षेत्र के 11 राजस्व गांवों का चयन किया गया जिनमें कुल 299 शौचालय बनवाए जाऐंगे।

जिला परियोजना समन्वयक हरिश्चंद्र यादव ने ब्लॉक कार्यालय में प्रधानों के साथ एक बैठक की। बैठक के दौरान उन्होंने उपस्थित प्रधानों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप हर घर में शौचालय बनवाए जाने का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। गंदगी को खुले में न छोड़ने के लिए यह निर्णायक जंग लड़ी जा रही है। जिसमें सभी की भागीदारी अनिवार्य है।

उन्होंने कहा कि ब्लॉक क्षेत्र में कोई भी घर ऐसा न छूटे जिसमें शौचालय न हो। जो पात्र व्यक्ति हैं, उनके लिए सरकार की ओर से शौचालय बनवाए जा रहे हैं। इसके अलावा जो इस योजना के अंतर्गत पात्र नहीं हैं और उनके घर शौचालय नहीं है। उन्हें भी शौचालय बनवाए जाने के लिए प्रेरित किया जाए।
उन्होंने बताया कि शासन की ओर से अभी 11 ऐसे राजस्व गांव चिन्हित किए गए हैं जिनमें शौचालय बनाए जाने हैं। उक्त गांवों में महिया खास, महिया कमालपुर, देवरी, रनवां, अम्मरगढ़, लहरउवा, शेरपुरा, गुलाबपुरा, हीरापुर, दुबरा, करनपुरा, शेखपुर खुर्द शामिल हैं। उक्त गांवों में कुल 299 शौचालय बनवाए जाने हैं। उन्होंने बताया कि जिन पात्र व्यक्तियों का चयन किया गया है। उन्हें पहले अपने पास से गड्ढे खुदवाकर शौचालय बनवाने होंगे। इसके बाद निरीक्षण के उपरांत शौचालय की धनराशि संबंधित व्यक्ति के बैंक खाते पहुंचाई जाएगी। इस मौके पर लगभग सभी गांवों के प्रधान उपस्थित रहे।
रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY