प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में सरकारी अस्पताल हुआ प्राइवेट अस्पतालों की तर्ज पर हाईटेक

0
76


वाराणसी (ब्यूरो) वाराणसी के पंडित दीनदयाल उपाध्याय का अस्पताल इस समय हाईटेक हो चला है, जहां सरकारी अस्पतालों के नाम पर लोगों में गलतफहमियां थीं कि इलाज कुछ नही होता है और उल्टे सरकार को कोसते थे, सरकारी अस्पताल बस नामभर रह गया था | सरकार के तमाम योजनाओ के बावजूद सरकारी अस्पतालो में सुविधाएं दिखती नहीं थी, जिसका मुख्य असर था कि तीमारदार अपने मरीजो को प्राइवेट अस्पतालों की तरफ ले जाते थे लेकिन अब ऐसा नहीं है |

मुख्यचिक्तिसा अधिकारी डॉ. एस. के. उपाध्याय बताते है कि हमारे पंडित दीनदयाल अस्पताल में तमाम तरह की सुविधाएं मरीजो को उपलब्ध कराया है| 24 घंटे जांच और मरीजो में दवा वितरण सभी वार्ड में साफ सफाई की व्यवस्था मरीजों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो इसके लिए चौबीस घंटे ओपीडी चालू रहती है | अस्पताल में हाईटेक लैब का भी उद्धघाटन कुछ दिन पहले जिलाधिकारी ने किया था जिससे अब मरीजो को बाहर के चक्कर नहीं लगाने पड़ते हैं साथ ही उन्होंने बताया कि शासन की तरफ से सभी अस्पतालों में डेंगू के मरीजों को देखते हुए हाई अलर्ट किया गया है, लेकिन पंडित दीनदयाल अस्पताल में डेंगू के एक भी मरीज नही है ये सबसे बड़ी उपलब्धि है।

सभी उपलब्धियां तो बता दी गई लेकिन अभी तक पंडित दीनदयाल राजकीय चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन महीनों से बंद मशीन चलाने वाला ऑपरेटर का रिटायरमेंट हो गया है | उसकी जगह अभी तक महीनों से कोई आपरेटर आया नहीं जिससे मरीजों को घोर कष्ट का सामना करना पड़ रहा है | जब सब कुछ हाईटेक हो रहा है तो सीटी स्कैन मशीन क्यों बंद पड़ी है जनहित को ध्यान में रखते हुए सीएमएस साहब इधर भी ध्यान दीजिए

रिपोर्टर – रवींद्रनाथ सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here