15 लाख रूपये कि रिश्वत लेते पकड़ा गया अधिकारी, घरवाले बोले हम इन्हें नहीं जानते |

0
666
Arrested
हाल ही में दिल्ली के होटल में एक आला अधिकारी द्वारा घूस लेते पकड़े जाने के बाद अब राजस्थान से एक ऐसा ही मामला सामने आया है, राजस्थान के जलादय विभाग के चीफ इंजीनियर 15 लाख रूपये घूस लेते हुए रंगेहान्थों पकड़े गए हैं | यह घूस 22 हज़ार करोड़ रुपये के स्पेशल वाटर प्रोजेक्ट कर रही एक निजी कंपनी से उसके बिल पास करने के लिए ली जा रही थी, इस पूरे काम के दौरान कंपनी के बिल पास करने के बदले 37 करोड़ रुपये कि घूस पर सौदा तय हुआ था, ये 15 लाख रूपये उसी की एक किश्त मात्र थे |
पीएचईडी विभाग का घूसखोर एडिशन चीफ इंजीनियर सुबोध जैन जब घूस लेता हुआ पकड़ा गया तो जमीन पर लेटकर मुंह छुपा लिया, घरवाले छोड़कर भाग गए और कहा कि हमारा कोई लेना-देना नही है. एंटी करप्शन ब्यूरो ने इस एडिशनल चीफ इंजीनियर को मैसर्स सुभाष प्रोजेक्ट एंड इंफ्रा के एजीएम से 5 लाख घूस लेते पकड़ा है, जबकि 10 लाख की घूस चीफ इंजीनियर आर. के. मीणा को दिए हैं |
घुस देने वाली कंपनी SPML वर्क आर्डर पास करवाने के लिए भी बड़े स्तर पर घूसखोरी करवा रही थी, जल्द ही उसे भरतपुर में पाइप लाइन डालने का काम मिलने वाला था, ACB की टीम पिछले 6 महीने से जलादय विभाग के अधिकारियों पर नज़र रखे हुए थी, ACB ने इस मामले में कंपनी के एजीएम प्रफुल्ल कुमार, वाईस प्रेसिडेंट केशव गुप्ता समेत चार लोगों को पकड़ा है |

 
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY