सरकारी विद्यालय की जर्जर व ढही इमारत का सामान हुआ गायब, विभाग ने कहा मालूम नही

0
69

बल्दीराय/सुलतानपुर (ब्यूरो) दशकभर से जर्जर स्कूल की सामग्री को खुलेआम बेंच दिया गया।जानकारी के बाद भी शिक्षा महकमे की चुप्पी ने, विभागिय भ्रष्टाचार के चादर में लिपटे होने का संकेत देकर महकमा की पारदर्शिता पर सवाल खड़ा किया है वहीं बिक्री के बाद मिली कीमत के बदरबाँट में खुली पोल के बाद गांव में हड़कंप मचा है। जिसमें लोगों ने उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है ।

मामला शिक्षा क्षेत्र धनपतगंज के प्राथमिक स्कूल पडरे का है। दशकों से जर्जर विद्यालय के कक्ष को गांव के ही कुछ लोगों ने धीरे-धीरे ढहा कर, सरिया व ईंट बेंच दिया जिम्मेदारों को अभी तक पता भी नहीं है कि विद्यालय का जर्जर कक्ष है याकि लूट लिया गया ? जबकि विद्यालय या कक्ष जर्जर होने की दशा में गांव के प्रबंध समिति द्वारा उसे ढहाने का प्रस्ताव किया जाता है और उसमें प्राप्त सामग्री को नियमानुसार नीलाम करवाकर उसी स्कूल में खर्च किया जाता है। परंतु नियमों को ताक पर रखते हुए लाखों के खेल में महकमे के जिम्मेदारों की चुप्पी ने उनकी ही भूमिका पर सवाल खड़ा कर दिया है।

सूत्र बताते हैं  कि धन के बंदरबांट के चलते विभागीय जिम्मेदारों में कार्यवाही का बूता ही नहीं है। यही नही बिक्री से मिले धन के बंदरबाँट में इस मामले का खुलासा होने के बाद गांव में हड़कम्प मचा है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री समेत उच्चाधिकारियों को पत्र भेजकर कार्यवाही की मांग की है। इस बावत खण्ड शिक्षा अधिकारी सुन्दर लाल रावत ने बताया कि मामला संज्ञान में नही है, मामले कीजांच करवाकर कार्यवाही की जाएगी ।

रिपोर्ट – धर्मेन्द्र सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here