इंडिया मार्का हैण्डपम्पों के रिबोर की जिम्मेदारी ग्राम प्रधान को

0
117


मैनपुरी (ब्यूरो)-
ग्राम पंचायत स्तर पर खराब हैंडपंपों की मरम्मत और रीबोंिरंग के लिए जल निगम और जनप्रतिनिधियों के सहारे के बिना ही ग्राम पंचायत की निधि से प्रधान काम को अंजाम दे सकेंगे। हैंडपंपों की रीबोंिरंग के बावत मुख्य सचिव ने ग्राम पंचायतों को धनराशि खर्च करने के निर्देश जारी किए हैं।

ग्रामीण अंचल में इंडिया मार्का हैंडपंपों के सहारे बड़ी आबादी अपने कंठ की प्यास को बुझाती है। अब तक ग्रामीण क्षेत्र में संचालित इंडिया मार्का हैंडपंपों की खराबी होने पर उन्हें रीबोर कराने के लिए जनप्रतिनिधियों की सिफारिश पर जल निगम, यूपी स्टेट एग्रो को जिम्मा दिया जाता था, लेकिन अब व्यवस्था में बदलाव हुआ है। ग्रामीण अंचल के हैंडपंपों को रीबोर व जरुरत के मुताबिक मरम्मत कराने के लिए ग्राम प्रधानों को अधिकार दिया गया है।

प्रधान और पंचायत सचिव खराब हैंडपंपों को सूचीबद्ध करने के बाद 14 वित्त आयोग और राज्य वित्त आयोग की मद में प्राप्त धनराशि से रीबो¨रग करा सकेंगे। प्रदेश के मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने इस संबंध में सभी अधिकारियों को पत्र भेजकर नई व्यवस्था की जानकारी दी है। गर्मी के मौसम में ग्रामीण अंचल की जनता को स्वच्छ पेयजल मुहैया कराने के लिए शासन ने इस व्यवस्था में बदलाव किया है। सभी प्रधानों को इस बावत जानकारी दी जा रही है। प्रधानों को खराब हैंडपंपों को अपने स्तर से शुरू कराने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here