19वां भारत अंतरराष्‍ट्रीय बाल फिल्‍म महोत्‍सव शानदार समारोह के साथ शुरू |

0
517

The Minister of State for Information & Broadcasting, Col. Rajyavardhan Singh Rathore addressing at the inauguration of the 19th International Children’s Film Festival of India in Hyderabad on November 14, 2015.

केंद्रीय सूचना और प्रसारण राज्‍य मंत्री श्री राज्‍यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि हैदराबाद भारत अंतरराष्‍ट्रीय बाल फिल्‍म महोत्‍सव (आईसीएफएफआई) आयोजित करने का स्‍थायी स्‍थान बन सकता है। श्री राठौड़ ने शनिवार को हैदराबाद के शिल्‍प कला वैदिका में आयोजित 19वें भारत अंतरराष्‍ट्रीय बाल फिल्‍म महोत्‍सव के उद्घाटन समारोह में यह बात कही।

उन्‍होंने कहा कि भारत में अति प्रतिभावान बच्‍चे हैं और उन्‍हें अपनी प्रतिभा को विश्‍व मंच पर प्रदर्शित करना चाहिए। उन्‍होंने बच्‍चों से सेल फोन के ज़रिए लघु फिल्‍म बनाने और विश्‍व को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए उसे इंटरनेट पर डालने का आग्रह किया। भारत को रचनात्‍मकता और कहानी सुनाने की भूमि बताते हुए श्री राठौड़ ने महोत्‍सव की सफलता के लिए शुभकामनाएं दीं।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय में सचिव श्री सुनील अरोड़ा ने कहा कि बच्‍चों के हित में सिनेमा का माध्‍यम के रूप में उपयोग करने के लिए स्‍वाधीनता के तुरंत बाद भारतीय बाल फिल्‍म सोसायटी (सीएफएसआई) का गठन किया गया था। उन्‍होंने कहा कि सीएफएसआई बच्‍चों के लिए पूर्ण मनोरंजन उपलब्‍ध कराएगा। सीएफएसआई के इतिहास के बारे में बताते हुए श्री सुनील अरोड़ा ने कहा कि इस 19वें महोत्‍सव की खासियत यह है कि इसके लिए करीब 1200 प्रविष्टियां आई हैं। उन्‍होंने कहा कि महोत्‍सव से बच्‍चों के लिए फिल्‍म निर्माता बनने का अवसर उपलब्‍ध होगा। उन्‍होंने कहा कि पिछले वर्ष शुरू हुआ नन्‍हें निर्देशकों का वर्ग अंतरराष्‍ट्रीय बन गया है, जो अपने आपमें एक उपलब्धि है। इस वर्ग के अंतर्गत सात देशों से कुल 200 प्रविष्टियां प्राप्‍त हुई हैं। उन्‍होंने कहा कि प्रदर्शन के लिए 70 फिल्‍में का चयन किया गया है। 18वें आईसीएफएफआई में गोल्‍डन एलीफेंट पुरस्‍कार प्राप्‍त फ्रेंच फिल्‍म ‘अर्नेस्‍त एत सेलेस्‍ताइन’ को ऑस्‍कर पुरस्‍कार के लिए भी नामित किया गया था। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि इस आईसीएफएफआई में प्रदर्शित होने वाली फिल्‍मों को भी इसी प्रकार का सम्‍मान मिलना चाहिए।

सीएफएसआई के अध्‍यक्ष श्री मुकेश खन्‍ना ने महोत्‍सव में आए बाल कलाकारों और प्रतिनिधियों का स्‍वागत करते हुए कहा कि कई देशों से इतने प्रतिभागियों का इस महोत्‍सव में भाग लेना गर्व का क्षण है। उन्‍होंने कहा कि भारतीय पौराणिक कहावत ‘वसुदैव कुटुम्‍बकम’ जिसका मतलब ‘विश्‍व एक परिवार है’ की यह विचारधारा इस प्रकार के कार्यक्रमों से पुख्‍ता होती है।

तेलंगाना के व्‍याव‍सायिक कर और सिनेमेटोग्राफी मंत्री श्री तलासानी श्रीनिवास यादव ने कहा कि राज्‍य सरकार ने इस महोत्‍सव के सफल आयोजन के लिए सभी पुख्‍़ता इंतजाम किए हैं। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य सरकार ने इस कार्यक्रम को एक चुनौती के रूप में लिया और महोत्‍सव की सफलता के लिए उचित व्‍यवस्‍था सुनिश्चित की है।

फिल्‍मी हस्तियां सुश्री तब्‍बू, सुश्री करीना कपूर और उनकी बहन सुश्री करिश्‍मा कपूर भी समारोह में उपस्थित थीं। केंद्रीय सूचना और प्रसारण राज्‍यमंत्री श्री राज्‍यवर्धन सिंह राठौड़ ने अन्‍य अतिथियों के साथ दीप प्रज्‍ज्‍वलित कर महोत्‍सव का औपचारिक उद्घाटन किया। इस अवसर पर सांस्‍कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। देश के अति प्रतिभावान बालक मास्‍टर अक्षत के नृत्‍य प्रदर्शन से बच्‍चों सहित सभी दर्शक मंत्रमुग्‍ध हो गए। ‘डिजिटल इंडिया’ के ट्रूप का शानदार प्रदर्शन और श्री हरिकृष्‍ण के सैंड आर्ट को भी दर्शकों ने काफी सराहा।

Source – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

12 + 19 =