पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म-शती समारोह के उपलक्ष्य में हुआ भव्य किसान मेला, किसानों को बांटे गए कृषी रक्षा यंत्र

<s
बलिया (ब्यूरो) 19जून- पंडित दीन दयाल उपाध्याय जन्म-शती समारोह के उपलक्ष्य में आफिसर्स क्लब परिसर में भव्य जनपद स्तरीय किसान मेले का आयोजन हुआ। इसमें जनपद भर से आए किसानों को बेहतर उत्पादकता प्राप्त करने सम्बंधी तकनीकी जानकारियां दी गयी और अनुदान आदि के लाभ लेने को प्रेरित किया गया।

किसान मेले का उद्घाटन मुख्य अतिथि भूमि एवं जल संसाधन मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने फीता काटकर व दीप प्रज्ज्वलित कर किया। उन्होंने कहा कि राज्य व केंद्र सरकार का पूरा ध्यान किसानों के विकास पर है। कई सारी लाभकारी योजनाएं किसान हित में चल रही है। जरूरी है कि हम सब प्रत्येक योजनाओं की जानकारी गांव-गांव, घर-घर पहुंचाएं। यही हम सबकी काबिलियत होगी। जागरूक किसान ही उन योजनाओं का लाभ लेकर आर्थिक उन्नति की ओर अग्रसर होगा। उन्होंने कृषि विभाग व कृषि वैज्ञानिकों को लाभकारी बातें किसानों तक पहुंचाने के लिए धन्यवाद दिया।


मंत्री ने कहा कि सरकार की लाभकारी योजनाओं को लागू करने के साथ हर पात्रों तक पहुंचाना भी जिम्मेदारी है। अभियान चलाकर योजनाओं का प्रचार प्रसार को निर्देशित किया। यह भी कहा कि केंद्र व राज्य सरकार भ्रष्टाचारमुक्त माहौल बनाना चाहती है और पारदर्शिता के लिए ही हर जगह ऑनलाईन व्यवस्था को लागू किया। इससे कल्याणकारी विभागों के पेंशन देने में कर्मियों की मनमानी पर रोक लगी, वहीं आवेदन के एक से डेढ़ महीने के भीतर पेंशन भी चालू होने की व्यवस्था हो सकी। मंत्री ने अधिकारियों को भरोसा दिलाया कि सरकार के कामकाम को बेहतर ढ़ंग से संचालित कराने में कहीं भी कोई बाधा नही आने दी जाएगी।

जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम ने कहा कि सरकार की मंशा है कि किसान की आय को दुगनी तिगुनी किया जाए। किसान को और फायदा हो इसके लिए फसलचक्र बढ़ाना होगा। प्रगतिशील किसान के फसलचक्र को अपनाने की जरूरत है। बताया कि हमारा प्रयास है कि ग्राम स्तर पर निर्वाचित सदस्यों के सहयोग लेते हुए लाभार्थीपरक योजनाओं को बेहतर ढ़ंग से लोगों के बीच पहुचाया जाए। युद्धस्तर पर शौचालय निर्माण कराया जा रहा है ताकि लोग खुले में शौच को न जाएं। किसानों को भी शौचालय बनवाने को प्रेरित किया। बताया कि डेयरी में नस्ल सुधार करते हुए पशुपालन के क्षेत्र में विकास पर भी जोर है।

उप निदेशक कृषि टीपी शाही ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के अलावा विभिन्न अनुदान के बारे बताया। कहा कि धान की सामान्य प्रजातियों पर 1400 रूपये प्रति कुंतल, संकर धान पर 130 रूपये प्रति किलो, संकर मक्का के बीज पर 50 रूपये प्रति किलो अनुदान का लाभ किसान भाई लें।

मेले में उप निदेशक उद्यान ने उद्यानिक खेती के बारे में विस्तृत जानकारी दी। कृषि वैज्ञानिकों ने बेहतर उत्पादकता के जरूरी टिप्स दिये। दो दर्जन से अधिक विभागों ने स्टॉल लगाकर अपनी विभागीय योजनाओं के बावत जानकारी दी। इस अवसर पर जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, कृषि उप सम्भागीय अधिकारी पियूष राय, मनौव्वर अली के अलावा जिले भर से आए हजारों किसान मौजूद रहे। संचालन भूमि संरक्षण अधिकारी संजेश श्रीवास्तव ने किया।

किसान मेला में मंत्री ने किसानों को दिये कृषि रक्षा यंत्र-
पंडित दीन दयाल उपाध्याय जन्म-शती समारोह के उपलक्ष्य में आफिसर्स क्लब में आयोजित किसान मेले में भूमि एवं जल संसाधन मंत्री श्री उपेंद्र तिवारी ने किसानों को विभिन्न योजनाओं के तहत लाभकारी कृषि यंत्र वितरित किये। इसमें फार्म मशीनरी बैंक योजना के तहत दो समितियों को 8 लाख अनुदान पर ट्रैक्टर व अन्य कृषि यंत्र दिये। इसके अलावा नेशनल मिशन ऑफ ऑयल सीड एंड ऑयल पॉम योजना के अन्तर्गत चार किसानों को निःशुल्क तिल का बीज दिया गया। मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के तहत चार किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड तथा दो किसानों को अनुदान पर बैट्रचालित कृषि रक्षायंत्र मंत्री ने वितरित किये। इसके अलावा भी कई किसानों को विभाग की ओर से अनुदान आदि का लाभ मिल चुका है।

सूचना विभाग द्वारा प्रचार साहित्य का हुआ वितरण-
दीन दयाल उपाध्याय जन्म-शती के अवसर पर ऑफिसर्स क्लब में आयोजित हुए किसान मेले में सूचना विभाग द्वारा प्रचार साहित्य का वितरण कर केंद्र व राज्य सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई। मुख्य अतिथि प्रदेश के भूमि एवं जल संसाधन मंत्री उपेंद्र तिवारी ने भी प्रचार प्रसार साहित्य का अवलोकन किया। कहा कि योजनाओं के प्रति जागरूक करने का यह सबसे बेहतर माध्यम है। इसी तरह के कार्यक्रम में इसका वितरण हो ताकि जिले के कोने-कोने तक लोगों को योजनाओं की जानकारी हो सके। जिले भर से आए किसानों ने काफी बढ़ चढ़कर प्रचार साहित्य लेने में रुचि दिखाई। आशा है कि प्रचार साहित्य में दी गई केंद्र व राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी किसान अपने आस पड़ोस में भी देंगे और घर-घर लोग योजनाओं का लाभ ले सकेंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY